इस साल 6 मई शुक्रवार की सुबह 6 बजकर 25 मिनट पर केदारनाथ धाम के कपाट खुलेंगे। महाशिवरात्रि के दिन परम्परागत पूजा पाठ के बाद केदारनाथ धाम के कपाट को खोले जाने की तिथि और मुहुर्त निकाल लिया गया। यह जानकारी श्री बद्रीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के पीआरओ डॉ. हरीश गौड़ द्वारा दी गई। उन्होंने कहा कि 2 मई को केदारनाथ के उत्सव यात्रा उखीमठ से केदारनाथ के लिए निकलेगी। बद्रीनाथ धाम के कपाट 8 मई को खुलेंगे।

2 मई को उखीमठ से तय कार्यक्रम के तहत भगवान श्री केदारनाथ की पंचमुखी उत्सव डोली पंचकेदार गद्दी स्थल से होते हुए ओंकारेश्वर मंदिर से केदारनाथ के लिए प्रस्थान करेगी। एक दिन पूर्व यानी 1 मई को उखीमठ में भैरव पूजन होगा। 2 मई को डोली गुप्तकाशी, फाटा 3 मई को, गौरीकुंड 4 मई को और पंचमुखी डोली 5 मई को केदारनाथ धाम पहुंचेगी।

शिवरात्रि के पावन अवसर पर ऊखीमठ में स्थित ओंकारेश्वर मंदिर में रावल भीमाशंकर की उपस्थिति में आयोजित संक्षिप्त धार्मिक समारोह में पूजा-अर्चना और पंचाग गणना के बाद केदारनाथ धाम यात्रा के लिए कपाट खुलने की तिथि की घोषणा की गई।
सभी श्रद्धालुओं का मुख्य कार्याधिकारी बी.डी.सिंह ने श्री केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि तय होने पर आभार जताया है। आज के पवित्र दिन दानीदाताओ प्रेम रस्तोगी ग्रुप दिल्ली द्वारा भंडारा का आयोजन कर प्रसाद वितरित किया गया। श्रद्धालु जन दर्शन के लिए बड़ी संख्या में पहुंचे। कोरोना बचाव मानकों का कार्यक्रम में पालन किया गया।