लखनऊ: सूबे में विधानसभा चुनाव नजदीक आते जा रहे हैं इस बीच विधानसभा चुनाव से संबंधित एक बड़ी खबर आ रही है। कयास लगाए जा रहे थे कि सूबे में समाजवादी पार्टी और भीम आर्मी का गठबंधन होने वाला है लेकिन इस बीच भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर ने आज शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि, “उनकी पार्टी और समाजवादी पार्टी में गठबंधन नहीं हो सका। चंद्रशेखर ने कहा, “समाजवादी पार्टी के क‌ई मुद्दों पर बात हुई लेकिन बात नहीं बन सकी। अखिलेश जी सामाजिक न्याय को नहीं समझते। उन्होंने कहा कि, “हमें बीजेपी को रोकना है” लेकिन अखिलेश जी को दलितों की जरूरत नहीं है, अखिलेश यादव ने हमें अपमानित किया।”

लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस में गठबंधन की संभावनाओं से इनकार करते हुए चंद्रशेखर ने कहा कि सपा मुखिया अखिलेश यादव को दलितों की जरूरत नहीं है।

जैसा कि मीडिया के सूत्रों के अनुसार अनुमान लगाए जा रहे थे कि भीम आर्मी और समाजवादी पार्टी का गठबंधन तय हो चुका है लेकिन अचानक से आज चंद्रशेखर ने प्रेस कांफ्रेंस करके सबको चौंका दिया।

चन्द्रशेखर ने कल ट्वीट करते हुए लिखा था, एकता में बड़ा दम है। मजबूती और एकता के बगैर बीजेपी जैसी मायावी पार्टी को हराना आसान नहीं है। गठबंधन के अगुवा का दायित्व होता है कि वो सभी समाज के लोगों के प्रतिनिधित्व और सम्मान का खयाल रखें। आज यूपी में दलित वर्ग अखिलेश यादव से इस जिम्मेदारी को निभाने की अपेक्षा रखता है। 

चन्द्रशेखर ने आज सुबह 10 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करने की बात कही थी, जिसमें उन्होंने प्रिंट और इलेक्ट्रोनिक मीडिया को कवरेज करने के लिए बुलाया था लेकिन बात न बनने के कारण चन्द्र शेखर ने ट्वीट कर कहा,

“अंत समय में मुझे लगा कि अखिलेश यादव को दलितों की ज़रूरत नहीं है। वह इस गठबंधन में दलितों को प्रतिनिधित्व नही देना चाहते।”