केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी से केंद्रीय सुरक्षा कवर लेने का अनुरोध किया. वहीं, AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने अमित शाह की बात का जवाब देते हुए कहा कि गृह मंत्री अमित शाह ने संसद में सुरक्षा लेने की अपील की। हम देश के गृह मंत्री से अपील करते हैं कि असदुद्दीन की जान की कीमत उत्तर प्रदेश में CAA प्रदर्शन के दौरान मरे 22 लोगों से बढ़कर नहीं है। लोग मेरे साथ बंदूक लेकर चलें यह मुझे पसंद नहीं है. आपको बता दें कि ओवैसी उत्तर प्रदेश के अमरोहा में एक चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे.

 coronavirus: भारत में तेजी ये घट रहा कोरोना संक्रमण

असदुद्दीन ओवैसी के काफिले पर हुए हमले पर राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी

इससे पहले लोकसभा में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के काफिले पर हुए हमले पर राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी है. मैं उनसे केंद्र सरकार द्वारा उन्हें दी गई सुरक्षा को स्वीकार करने का अनुरोध करता हूं. दरअसल, हाल ही में ओवैसी ने उनके उनकी कार पर हुए हमले का दावा किया था. उनका आरोप था कि किसी ने फायरिंग की है और उनकी जान बाल-बाल बची है, जिसके बाद गृह मंत्री शाह ने उनसे कड़ी सुरक्षा कवर लेने का अनुरोध किया है.

 खतरों के खिलाड़ी 12 में दिख सकते हैं बिग बॉस 15 के कई कंटेस्टेंट

3 फरवरी, 2022 को वेस्ट यूपी के हापुड में एक टोल प्लाजा पर हुई फायरिंग

3 फरवरी को ओवैसी के काफिले पर फायरिंग की घटना पर सोमवार को राज्यसभा में बयान देते हुए अमित शाह ने आगे कहा कि दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है और केंद्रीय गृह मंत्रालय ने उत्तर प्रदेश सरकार से रिपोर्ट मांगी है. जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार ने 4 फरवरी को AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी को मेरठ से राजधानी दिल्ली लौटते समय उनके काफिले पर हुई गोलीबारी की घटना के बाद जेड श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की थी. ओवैसी के काफिले पर फायरिंग की घटना 3 फरवरी, 2022 को वेस्ट यूपी के हापुड में एक टोल प्लाजा पर हुई थी.