देश में कोरोना वायरस के केस भले ही कम दिखाई दे रहे हों, लेकिन केंद्र सरकार इसको लेकर कोई लापरवाही नहीं चाहती. यही वजह है कि केंद्र सरकार ने आज यानी मंगलवार को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिख कोरोना संबंधी नियमों का सख्ती से पालन करने की हिदायत दी है. केंद्र सरकार ने कहा है कि राज्य कोरोना वायरस की जांचों की संख्या बढ़ाने में किसी भी तरह की लापरवाही न करे. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपने पत्र में कहा कि राज्य और केंद्र शासित सरकारें कोरोना के हॉटस्पॉट और घनी आबादी वाले क्षेत्रों में टेस्टिंग को तुरंत रणनीतिक तरीके से बढ़ाएं.

 कंगना के गालों जैसी चिकनी रोड बनवाने वाले विधायक को मिला करारा जवाब

भारत में 2.38 लाख नए केस दर्ज

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों को जारी की गई एडवाइजरी में कहा है कि घनी आबादी वाले इलाके, कोविड हॉटस्पॉट वाले इलाके में रहने वाले लोगों समेत कोरोना पॉजिटिव व हाई रिस्क वाले लोगों का कोरोना टेस्ट कराया जाए. दरअसल, पिछले एक-दो दिनों में देखा गया है कि देश में कोरोना का ग्राफ थोड़ा नीचे आ रहा है. पिछले 24 घंटे की अगर बात करें तो भारत में 2.38 लाख नए केस दर्ज किए गए हैं. कोरोना के ये केस रविवार की तुलना में 7.8% कम है. इससे पता चलता है कि कोरोना संक्रमण दर में भी थोड़ी गिरावट आई है.

 26 फरवरी तक इन 4 राशियों के तरक्की के बन रहे हैं प्रबल योग,आइए जाने कौन सी है यह राशि

कोरोना पॉजिटिविटी रेट 13.11%

वहीं, बीते दिन यानी सोमवार के आंकड़ों पर नजर डाले तो कोरोना पॉजिटिविटी रेट 13.11% रहा. जबकि इससे पहले रविवार को यह दर 14.78% रिकॉर्ड की गई थी. सबसे बड़ी बात यह है कि देश के दो महानगर दिल्ली और मुंबई में जहां कोरोना के केस तेजी के साथ बढ़ रहे थे, वहीं अब इनमें गिरावट देखी गई है. आपको बता दें कि ये दोनों ही शहर कोरोना के हॉटस्पॉट थे, जहां तेजी से मामले बढ़े थे.