राज्यदिल्ली

Delhi Cyber Fraud: दिल्ली में एक डॉक्टर ने 113 रुपये लेने के चक्कर में 4.9 लाख रुपये खो दिए, कैब सर्विस में रिफंड के लिए फोन किया

Delhi Cyber Fraud

Delhi Cyber Fraud: दिल्ली में एक आश्चर्यजनक साइबर ठगी का मामला सामने आया है। यहां, डॉक्टर को एक कैब सेवा प्रदाता से रिफंड मांगने के लिए फोन करना भारी पड़ा। डॉक्टर ने रिफंड के लिए 113 रुपये लेने के चक्कर में 4.9 लाख रुपये खो दिए। सफदरजंग एन्क्लेव के अर्जुन नगर निवासी डॉक्टर प्रदीप चौधरी ने पुलिस शिकायत में कहा कि उन्होंने काम के लिए गुरुग्राम के लिए एक कैब लिया था। उन्हें कैब 205 रुपये में बुक किया गया था, लेकिन सवारी खत्म होने पर उनसे 318 रुपये वसूले गए।

प्रदीप चौधरी ने कैब ड्राइवर से पूछा कि उससे 113 रुपये अधिक क्यों लिए गए? ड्राइवर ने कहा कि वह कैब सेवा ग्राहक सेवा से संपर्क करके रिफंड ले सकते हैं। ऐसे में प्रदीप चौधरी ने इंटरनेट पर खोज कर एक कैब कंपनी का फोन नंबर पाया। उन्होंने उस नंबर पर फोन किया। जवाब देने वाले व्यक्ति ने खुद को कैब सेवा के ग्राहक सेवा प्रतिनिधि बताया और उनसे उनकी समस्या पूछी।

DELHI ROAD ACCIDENT: दिल्ली में 10 में से 8 सड़क दुर्घटनाओं में मरने की पुष्टि हुई! एक्सीडेंट करने वाली आधी गाड़ियों का नहीं चलता पता

रिमोट सेंसिंग एप्लिकेशन कराया था डाउनलोड

Delhi Cyber Fraud: चौधरी ने बताया कि उन्होंने उस व्यक्ति को घटना की जानकारी दी और रिफंड की मांग की. इसके बाद उनका फोन किसी दूसरे व्यक्ति को भेजा गया, जिसका नाम राकेश मिश्रा था। राकेश मिश्रा ने प्रदीप चौधरी से रिमोट सेंसिंग ऐप डाउनलोड करने और ई-वॉलेट खोलने को कहा। इसके बाद रिफंड की रकम लिखने को कहा। पीड़ित से कहा गया कि वह अपने फोन नंबर के पहले छह अंक को उस क्षेत्र में लिखें, जहां लोग अक्सर वॉलेट में पैसे डालते हैं और उसे भेजते हैं।

पीड़ित ने आरोपी को दिया था ओटीपी

Delhi Cyber Fraud: राकेश मिश्रा ने पीड़ित को बताया कि यह एक सत्यापन प्रक्रिया थी। चौधरी ने जो कुछ कहा गया था, उसे लिख दिया। उसने मिश्रा को अपनी ओटीपी भी दी। इसके बाद, ठगों ने चार लेनदेन करके 4.9 लाख रुपये ठग लिए।

RRTS CONNECT MOBILE APP: एक क्लिक से RRTS कनेक्ट मोबाइल ऐप पर टिकट बुक करें और इसके लाभ जानें

पुलिस ने टीमो का किया गठन

Delhi Cyber Fraud: फिलहाल, पुलिस ने आईपीसी की धारा 420 (धोखाधड़ी और बेईमानी से संपत्ति की डिलीवरी को प्रेरित करना) और IT Act की धारा 66 डी के तहत मामला दर्ज किया है। अधिकारी को शक है कि घोटालेबाजों ने चौधरी कैब का ग्राहक सेवा नंबर खोजते समय जाल में फंस गए। अधिकारी ने कहा कि मामले को हल करने के लिए टीमें बनाई गई हैं।

फेसबुक और ट्विटर पर हमसे जुड़ें और अपडेट प्राप्त करें:

Related Articles

Back to top button
Share This
9 Tourist Attractions You Shouldn’t Miss In Haridwar चेहरे पर चाहिए चांद जैसा नूर तो इस तरह लगायें आलू का फेस मास्क हर दिन खायेंगे सूरजमुखी के बीज तो मिलेंगे इतने फायदे हर दिन लिपस्टिक लगाने से शरीर में होते हैं ये बड़े नुकसान गर्मियों के मौसम में स्टाइलिश दिखने के साथ-साथ रहना कंफर्टेबल तो पहनें ऐसे ब्लाउज
9 Tourist Attractions You Shouldn’t Miss In Haridwar चेहरे पर चाहिए चांद जैसा नूर तो इस तरह लगायें आलू का फेस मास्क हर दिन खायेंगे सूरजमुखी के बीज तो मिलेंगे इतने फायदे हर दिन लिपस्टिक लगाने से शरीर में होते हैं ये बड़े नुकसान गर्मियों के मौसम में स्टाइलिश दिखने के साथ-साथ रहना कंफर्टेबल तो पहनें ऐसे ब्लाउज