देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस की स्थिति (Covid Situation In Delhi) में लगातार सुधार होता दिख रहा है। दिल्ली में शुक्रवार को नए मरीजों की संख्या एक हजार से कम मिली है । संक्रमण की दर 2 पर्सेंट से नीचे दर्ज की गयी है । इस साल यह पहली बार हुआ है की जब 24 घंटों में 1,000 से कम करोना के नए मामले सामने आए। ऐक्टिव केसो की संख्या 5 हजार से कम हो गए हैं। अस्‍पतालों में अभी केवल 4.34% बेड भरे हुए हैं।

भर्ती मरीजों में से ज्‍यादातर की हालत बिलकुल भी गंभीर नहीं है। कोविड केसेज में गिरावट का ट्रेंड देखते हुए पाबंदियों में भी राहत (Covid Restrictions In Delhi) की उम्‍मीद की जताई है। दिल्‍ली में अभी नाइट कर्फ्यू (Night Curfew In Delhi)पूर्णतः लागू है। दिल्‍ली डिजास्‍टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (DDMA) ने अगले महीने अहम बैठक (DDMA Meeting) होनी है। डीडीएमए से नाइट कर्फ्यू हटाने के लिए सभी जोन में वीकली मार्केट्स की इजाजत देने की सरकार से गुहार लगाई गई है।

DDMA की बैठक अगले हफ्ते :-
दिल्ली के व्यापारियों ने नाइट कर्फ्यू जारी रखने पर सरकार पे सवाल उठाए हैं। चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इडस्‍ट्री (CTI) के चेयरमैन बृजेश गोयल ने बताया कि “आजकल शादियों का सीजन शुरू हो चुका है और लोगों को नाइट कर्फ्यू की वजह से कई दिक्‍कतें होंगी। दिल्‍ली भाजपा के अध्‍यक्ष आदेश गुप्‍ता जी ने गुरुवार को उप राज्‍यपाल और DDMA चेयरमैन अनिल बैजल को एक चिट्ठी लिखी है । आदेश गुप्‍ता ने बताया कि मंदिरों व अन्‍य धर्मस्‍थलों के दरवाजे श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाने चाहिए। अभी धर्मस्‍थलों पर श्रद्धालु को आने की की इजाजत नहीं है। डीडीएमए की बैठक अगले सप्‍ताह को प्रस्‍तावित की गयी है। इसमें कई रियायतों की उम्‍मीद की जताई जा रही है।

दिल्ली में अभी कोरोना के एक्टिव केसो की संख्या 5 हजार से कम हो गई है। कुल एक्टिव मरीजों में से 3135 मरीज होम आइसोलेशन में हैं। 108 मरीजो को कोविड केयर सेंटर में भर्ती किया हैं। कोविड हेल्थ सेंटर में अब एक भी मरीज नहीं बचा है। वहीं, 592 मरीज इलाज के लिए अभी एडमिट हैं। कुल एडमिट मरीजों में से अब 66 मरीज वेंटिलेटर पर हैं और इन्हें मिलाकर 244 मरीज ऑक्सिजन पर हैं।