अभिनेत्री आलिया भट्‌ट की आने वाली फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ 25 फरवरी को सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रही है। फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली के डायरेक्शन में बनी इस फिल्म में आलिया ‘गंगूबाई’ के रूप में नजर आने वाली हैं। लेकिन, अब रिलीज से पहले यह फिल्म विवादों में आ गई है।

फिल्म पर हाल ही में गंगूबाई की फैमिली ने आपत्ती जाहिर की है। परिवार ने फिल्म के खिलाफ कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। गंगूबाई के परिवार का आरोप है कि इस फिल्म में हमारी मां को सोशल वर्कर से प्रॉस्टिट्यूट बना दिया गया है। गंगूबाई के बेटे बाबूरावजी शाह ने कहा, ‘फिल्म में मेरी मां को तो प्रॉस्टिट्यूट बनाकर रख दिया। अब लोग उनके बारे में तरह-तरह की बातें कर रहे हैं। यह बातें हमारी फैमिली को बहुत परेशान कर रही हैं। वहीं गंगूबाई की नातिन भारती ने कहा कि फिल्म के मेकर्स ने अपने पैसों की लालच में आकर मेरे घर को डी-फेम कर दिया है। यह बिलकुल भी स्वीकार नहीं किया जा सकता है। मेकर्स ने फिल्म बनाने के लिए परिवार की सहमती भी नहीं ली है और न ही बुक के लिए कोई हमारे पास आया था। भारती ने फिल्म के मेकर्स पर भड़कते हुए कहा, ‘मेरी नानी कमाठीपुरा में रहती थी, तो क्या वहां रहने वाली हर औरत वैश्या हो गई। मेरी नानी ने वहां चार बच्चों को स्वीकार किया था, जो प्रॉस्टिट्यूट के ही बच्चे थे। मेरी मां का नाम शकुंतला रंजीत कावी, दूसरी बेटे का नाम रजनीकांत रावजी शाह, तीसरे बेटे का नाम बाबू रावजी शाह चौथी बेटी सुशीला रेड्डी हैं। हम उन्हीं के परिवार से हैं। निर्माताओं ने हमें ही इल्लीगल करार दे दिया है। हमारी नानी ने जब अडॉप्शन किया था, उस वक्त इसके कानून नहीं बने थे।

लोग अब प्रॉस्टिट्यूट की औलाद कह कर बुला रहे
भारती ने आगे कहा, ‘हम एक ओर जहां गर्व से अपनी नानी के किस्से लोगों को सुनाया करते थे। फिल्म के ट्रेलर के सामने आने के बाद तो हमारे परिवार की इज्जत की धज्जियां उड़ गई हैं। लोग कहने लगे हैं कि आपकी नानी तो प्रॉस्टिट्यूट थीं। मेरी नानी ने जिंदगी भर कमाठीपुरा के प्रॉस्टिट्यूट के उत्थान के लिए काम किया है। इन लोगों ने तो मेरी नानी को क्या से क्या बना दिया है। हमें तो लोग अब प्रॉस्टिट्यूट की औलाद कह कर बुला रहे हैं। मैं और मेरा परिवार तो अब घर से बाहर जाने में भी कतरा रहा है।

परिवार की इज्जत बचाने के लिए कोर्ट जाने का फैसला किया
रिपोर्ट्स के मुताबिक, ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ फिल्म का ट्रेलर रिलीज होने के बाद से गंगूबाई के परिवार वालों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। यहां तक कि उनके फैमिली मेंबर्स को मुंबई में बार-बार अपना घर भी बदलना पड़ रहा है, ताकि वे लोगों के तीखे सवालों से बच सकें।