बीए, बीएससी व बीकाम व ग्रजुएट की डिग्री धारक युवाओं के लिए एक अच्छी खबर है। यूपी के सभी जिलों समेत कानपुर में भी छत्रपति शाहूजी महाराज विश्वविद्यालय तथा उससे संबंद्ध महाविद्यालयों से स्नातक की डिग्री हासिल कर चुके युवा अब नौ हजार रुपये पा सकते हैं। नई शिक्षा नीति के अंतर्गत अब स्नातक डिग्रीधारी युवा भी अप्रेंटिसशिप में भाग ले सकेंगे। इसके लिए उसे नौ हजार रुपये मासिक मानदेय दिया जायेगा। इसको लेकर कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय ने एक आदेश जारी किया है। छह माह से लेकर तीन वर्ष तक की अप्रेंटिसशिप हो सकेगी।

 

मंत्रालय द्वारा जारी इस नेशनल अप्रेंटिसशिप ट्रेनिंग स्कीम के अंतर्गत लखनपुर स्थित बोर्ड आफ अप्रेंटिसशिप ट्रेनिंग ने कार्यालय के अंतर्गत आने वाले सभी राज्यों जैसे- यूपी, उत्तराखंड, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश के शिक्षण संस्थानों को भी इसके तहत निर्देश दिए गए हैं। अप्रेंटिसशिप में बीटेक डिग्रीधारक भी 4500 रुपये के जगह नौ हजार रुपये प्रत्येक माह मानदेय पा सकेंगे। डिप्लोमा व वोकेशनल सर्टिफिकेट कोर्स करने वाले युवा भी अब दोगुना मानदेय पा सकेंगे। बढ़ा एक अप्रैल 2021 से मानदेय लागू माना जाएगा।