बिजनेस डेस्‍क। भारतीय डाकघर ने अपने लाखों ग्राहकों की सुविधा के लिए एक नई इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पांस (आईवीआर) सर्विस शुरू की है। डाकघर खाताधारक नई आईवीआर सेवा का उपयोग अपने खातों में विभिन्न प्रकार की सेवाएं करने के लिए कर सकते हैं।  इस सेवा के माध्यम से ग्राहक इस सेवा का उपयोग निवेश पर प्राप्त ब्याज, एटीएम कार्ड ब्लॉक, नए कार्ड जारी करने और पीपीएफ की जानकारी प्राप्त करने के लिए कर सकते हैं।

मोबाइल पर उपलब्‍ध है आईवीआर सर्विस
डाक विभाग ने हाल ही में डाकघर बचत बैंक (पीओएसबी) खाताधारकों के लिए अपनी नई “इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पांस (आईवीआर)” सुविधा का अनावरण किया है। नई सुविधा आपके मोबाइल फोन के माध्यम से उपलब्ध है। सर्कुलर के अनुसार, अब पीपीएफ, एनएससी और अन्य जैसी छोटी बचत योजनाओं वाले ग्राहक भी भारत के डाक के टोल-फ्री नंबर 18002666868 पर डायल करके आईवीआर सुविधा का उपयोग कर सकते हैं।

आईवीआर डाकघर बचत खाताधारकों को कई विकल्प प्रदान करता है।

  • यदि कोई ग्राहक ‘हिंदी’ भाषा में कोई जानकारी चाहता है, तो बस 1 दबाएं।
  • सभी योजनाओं का खाता शेष जानने के लिए, 5 दबाएं, उसके बाद खाता संख्या डायल करें, उसके बाद हैश (#) दबाएं।
  • एटीएम कार्ड को ब्लॉक करने के लिए 6 दबाएं, उसके बाद कार्ड नंबर, फिर अकाउंट नंबर और कस्टमर आईडी नंबर के बाद 3 दबाएं।

क्‍या हैं पीओ स्‍कीम्‍स की ब्‍याज दरें
छोटी बचत योजनाओं की बकेट में राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (NSC), सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF), किसान विकास पत्र (KVP) और सुकन्या समृद्धि योजना सहित 12 इंस्‍ट्रूमेंट्स शामिल हैं। सरकार हर तिमाही की शुरुआत में ब्याज दर को रीसेट करती है। सरकार ने जनवरी-मार्च की अवधि के लिए छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों को अपरिवर्तित रखा है। चालू तिमाही के लिए, निवेशक सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF) में 7.1 फीसदी, वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (SCSS) में 7.4 फीसदी, राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (NSC) में 6.8 फीसदी और सुकन्या समृद्धि योजना में 7.6 फीसदी का ब्याज अर्जित करना जारी रखेंगे।