यह खबर खासकर उन लोगों के लिए है जो अपनी बॉडी को फिट रखना चाहती हैं. या फिर यूं कहें जिनको जीरो फिगर पसंद है. उनके लिए यह खबर बेहद लाभकारी हो सकती हैं. बहुत से लोग अपनी बॉडी को फिट रखने के लिए और वजन घटाने के लिए डाइटिंग करते होंगे. तो आपके लिए वजन घटाने की डाइट में ताजा जूस को शामिल करने का एक नया कांसेप्ट है. लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप सिर्फ लिक्विड डाइट पर ही चले जाए. बल्कि यह कहने का मतलब है की तेजी से वजन घटाने के लिए अपनी डाइट में ताजा जूस को भी शामिल कर सकते हैं, क्योंकि ताजा जूस विटामिंस, खनिज, फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट्स से परिपूर्ण होता है. जो बॉडी में मेटाबॉलिज्म को बढ़ा देता है और कैलोरी को  बर्न कर देता है.

जानिए ऐसे कौन से 5 तरह के जूस हैं जिनको आप डाइट में शामिल कर सकते हैं……

गाजर का जूस –
गाजर के जूस में कैलोरीज काफी कम होती हैं.और फाइबर अधिक होता है.एक बड़ा गिलास गाजर का जूस पीने से पेट काफी देर तक भरा रहेगा. गाजर का जूस शरीर में वसा को जलाने में मदद करता है.जिससे वजन घटने में मदद होती है. आप गाजर का जूस बनाते समय इसमें एक सेब, आधा संतरा और थोड़ी सी अदरक भी मिला सकती हैं, जो कि आपके शरीर से सारे टॉक्सिंस को निकाल देगी.

करेला का जूस –
वैसे तो करेला काफी कड़वा होता है. लेकिन वजन घटाने के लिए करेले का जूस सालों से प्रयोग किया जा रहा है. करेले का रस पित्त को साफ करता है. और यह कैलोरी में भी बहुत कम होता है.वजन घटाने के लिए करेले का जूस सबसे अच्छा माना जाता है.

Read also:newz24india.com/siddhant-chaturvedi-panics-in-the-film-ghariyan-releasing-on-ott-platform

खीरे का जूस –

खीरे का जूस भी वजन घटाने में काफी प्रभावी है.क्योंकि खीरे में पानी और फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है और कैलोरी की मात्रा कम होती है. जिस कारण यह पेट को भी काफी देर तक भरा रखता है.

आंवला का जूस –

आंवला का जूस आपके पाचन तंत्र के लिए बेहतर है. क्योंकि इसका रस भोजन को एनर्जी में बदलने में बढ़ावा देता है. यह वेट लॉस करने के लिए भी बहुत अच्छा है. और खाली पेट इसको पीने से काफी लाभ मिलते हैं.

अनार का जूस –
अनार का जूस शरीर के लिए बेहद फायदेमंद है. यह सिर्फ वजन घटाने के लिए ही नहीं बल्कि बेदाग त्वचा और बालों के लिए भी काफी असरकारी और चमत्कारी है. एंटीऑक्सिडेंट, पॉलीफेनोल और संयुग्मित लिनोलेनिक एसिड से भरपूर अनार का रस वजन घटाने और चयापचय को बढ़ावा देने में मदद करता है.