उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के कवारसी इलाके में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है जहां राजा मगर में मंगलवार को एक साथ साल के बच्चे को उसकी सौतेली मां ने गर्म लोहे की प्रेस से उसका चेहरा जला दिया। पीड़ित के पिता मोहम्मद जाहिद के मुताबिक उसके 7 साल के बेटे को उसकी पत्नी तबस्सुम ने तब जला दिया जब वह ताला फैक्ट्री में काम करने गया हुआ था।
मोहम्मद जाहिद ने आगे बताया कि बेटे के चेहरे और पीठ पर चोट के गहरे निशान है और जब वह घर आए तो उन्हें इस घटना के बारे में पता चला। वही बच्चे के साथ थाने पहुंची उसकी मौसी शाजिया ने बताया कि लड़के की सौतेली मां नहीं चाहती कि बच्चे उसके साथ घर में रहे।
इतना ही नहीं आरोपी सौतेली मां ने कथित तौर पर पहले लड़के की बहन को मारने की कोशिश की लेकिन उसे उसकी सगी मौसी के घर भेज दिया गया और लड़का अभी भी अपने पिता के साथ ही रह रहा था। बच्चों की मौसी का आरोप है कि तबस्सुम अक्सर लड़के को प्रताड़ित करते थे लेकिन वह चुप ही रहता था क्योंकि वह अपनी सौतेली मां तबस्सुम से बहुत ज्यादा डरता था।
इस मामले के संज्ञान में आते ही सर्कल अधिकारी सिविल लाइन श्वेताभ पांडे ने जांच पड़ताल के तहत महिला के खिलाफ कवारसी थाने में आईपीसी की धारा 326 (स्वेच्छा से खतरनाक हथियारों से गंभीर चोट पहुंचाना) के तहत एफआईआर (FIR) दर्ज की है और आगे की जांच जारी है।
आरोपी महिला से पूछताछ के बाद उसकी निशानदेही पर घर से ही प्रेस भी बरामद कर ली गई जिससे बच्चे को जलाया गया था। इस मे सबसे खास बात यह है कि जिस वक्त महिला को गिरफ्तार किया गया उस वक्त महिला ने यह सवाल खड़ा किया कि आप लोगों के पास क्या सबूत है कि मैंने यह किया है?
आरोपी पर बच्चे द्वारा खाना मांगे जाने पर उसे पीटने और गर्म पानी से जला देने के भी कई आरोप लगे हैं, 7 साल के मासूम गरीब से बात करने पर पता चला कि मंगलवार को खाना मांगने पर उसकी सौतेली मां ने उसे पीटा और जब वह बुआ के घर खाना खाकर लौटा तो गुस्से में तबस्सुम ने उसके चेहरे और पीठ पर गर्म प्रेस रख कर उसे बुरी तरह जला दिया।