अमेरिकन राष्ट्रपति जो बाइडेन ने अपने संबोधन में कहा कि यूक्रेन पर रोज द्वारा किया गया हमला केवल इस देश पर हमला नहीं हैं बल्कि यूरोप और वैश्विक शांति पर किया गया हमला यह बात अमेरिकी राष्ट्रपति ने शुक्रवार को फिनलैंड के राष्ट्रपति के साथ बातचीत के दौरान संवाददाताओं से कहीं उन्होंने आगे कहा कि दोनों देश कुछ वक्त से लगातार संपर्क में है।
बाइडन ने कहा कि उन्होंने दूसरों के खिलाफ मिलकर संयुक्त प्रतिक्रिया दी है और यूक्रेन के खिलाफ बेवजह और गैर उकसावे वाले आक्रमण के लिए और उसकी जवाबदेही को तय कर रहे हैं वही उन्होंने व्हाइट हाउस के ओवल ऑफिस में कहा, “और हम इस बात से सहमत हैं कि यह सिर्फ यूक्रेन पर हमला नहीं है बल्कि यह हमला यूरोप की सुरक्षा और वैश्विक शांति और स्थिरता पर भी है”
इससे पहले दिन में वाइडेन ने पोलैंड के राष्ट्रपति एंड्रेज डूडा से बातचीत की और रूस द्वारा यूक्रेन पर किए गए हमले के खिलाफ देशों की प्रतिक्रिया पर भी बातचीत की व्हाइट हाउस में दिए गए बयान में उन्होंने कहा, “बाईडन ने पोलैंड की सुरक्षा और सभी नाटो सहयोगियों की रक्षा की अमेरिका की प्रतिबद्धता को रेखांकित किया है”
अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा बयान में कहा गया कि उन्होंने नाटो के खिलाफ रूस के किसी भी हमले को रोकने और गठबंधन को मजबूत करने के लिए 9000 अमेरिकी बलों की तैनाती के लिए पोलैंड की साझेदारी का आभार जताया है जिसमे वही हाल के ही कुछ अब तो मैं वहां पर तैनात किए गए सता लो अतिरिक्त जवान भी शामिल है।

ये भी पढ़ें : मणिपुर में चुनाव के दौरान हुई हिंसा मे एक की मौत, सुबह 11 बजे तक 28 % मतदान
विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकिंग ने ब्रुसेल्स में शुक्रवार को कहा कि अमेरिका ने यूरोप मैं 7000 अतिरिक्त सैनिकों को भेजा है और नाटो के पूर्वी बड़े को और अधिक मजबूत करने के लिए अपने सुरक्षा बलों की तैनाती में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव भी किया उन्होंने कहा कि हम रूस के खिलाफ लगाए गए अपने कड़े आर्थिक प्रतिबंधों को और भी ज्यादा सख्त कर रहे हैं”