खाटू में बाबा खाटू श्याम का लक्खी मेला की शुरुआत हो चुकी है और 15 मार्च तक चलने वाले इस मेले में देश भर से श्रद्धालुओं का धोक लगाने के लिए आना बना रहेगा ऐसे में मंदिर प्रबंधन का कहना है कि मेले के पहले दिन दर्शन करने वाले भक्तों की संख्या लगभग 1.5 से 2 लाख तक पहुंच सकती है आपको बता दें कि शुरू होने से पहले ही 1 हफ्ते के दौरान करीबन 3 लाख से ज्यादा वक्त मिला दर्शन कर भी चुके हैं।
इस मेले में राजस्थान के अलावा उत्तर प्रदेश मध्य प्रदेश गुजरात दिल्ली हरियाणा कोलकाता से विभक्त पहुंच रहे हैं और इनमें से कई भक्तों ऐसे भी हैं जो पूरे मेले के दौरान खाटू में ही रहकर अन्य भक्तों की सेवा करेंगे वही बाबा श्याम के साथ होली खेलने के बाद वापस लौटेंगे कई भक्त तो दो-तीन दिन रुक कर बाबा श्याम की आराधना करेंगे।
खाटूबा उसने के लिए प्लेन बस और ट्रेन आसान साधन माने जाते हैं।
खाटू पहुंचने के बाद भक्तों को मंदिर के 100 से 200 मीटर के दायरे में ही अच्छे होटल व धर्मशाला में मिल जाती हैं और आपको बजट कैटेगरी के हिसाब से अलग-अलग होटल मिल जाएंगे जहां एक रूम का किराया ₹500 से लेकर ₹5000 तक है इसके साथ ही कई होटल संचालकों ने बाबा के दर्शनों से लेकर मेले से जुड़ी जानकारी देने की भी पूरी व्यवस्था कर रखी है।

ये भी पढ़ें : औरतों का काम है थके सैनिकों के लिए तकिया बनना ना कि युद्ध लड़ना?
खाटूश्यामजी में सूरत बंगाल हरियाणा कोलकाता से लेकर दिल्ली के भी कई श्याम भक्तों की धर्मशालाएं बनी हुई है और इन धर्मशाला में काफी कम किराए पर कमरे मिल जाते हैं इसके अलावा कमेटियों की ओर से भी अलग-अलग पंडाल बनाए जाते हैं यहां पर रहने से लेकर खाने-पीने तक की सभी व्यवस्थाएं फ्री में होती है।
कोरोनावायरस महामारी के 2 साल के बाद इस बार खाटू के बाजार में काफी रौनक देखने को मिल रही है बाजारों में काफी भीड़ भी नज़र आ रही है वहीं व्यापारियों का कहना है कि 2 साल बाद शुरू हुए इस मेले से हमें काफी उम्मीदें हैं पिछली बार काफी ज्यादा नुकसान उठाना पड़ा था और मेले में खाने-पीने से लेकर के खिलौनों के बीच कॉल लग चुके हैं हालांकि इस बार भंडारा नहीं होना है मंदिर कमेटी ने मेले की सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए पहले ही सिक्योरिटी गार्ड लगाए हुए हैं।