बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी (RJD) नेता लालू यादव की मुश्किलें बढ़ गई हैं। रांची में सीबीआई (CBI)की विशेष अदालत ने दोरांडा (Doranda) कोषागार से धोखाधड़ी से निकासी के मामले में लालू प्रसाद यादव को दोषी ठहराया है। यानी लालू यादव को एक बार फिर जेल जाना पड़ेगा। सोमवार को चारा घोटाला के डोरंडा (Doranda) कोषागार से 139.35 करोड़ रुपये की अवैध निकासी मामले में ट्रायल (Trial) का सामना कर रहे बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व राजद (RJD) प्रमुख लालू प्रसाद यादव सहित 99 अभियुक्तों की किस्मत का फैसला हो गया। मामले में बहस पूरी होने के बाद रांची में सीबीआई (CBI) के विशेष जज एसके शशि की अदालत अपना फैसला सुनाया है। लालू के खिलाफ यह पांचवां एवं अंतिम (5Th and Last) मामला है, जिसमें फैसला आ गया है। इससे पहले सीबीआई कोर्ट उन्हें चाईबासा के दो, देवघर और दुमका के एक-एक मामले में पहले से ही सजा सुना चुकी है। इन मामलों में लालू फिलहाल जमानत पर हैं। अब उन्हें डोरंडा कोषागार मामले में दोषी भी करार दिया है और उन्हें तत्काल न्यायिक हिरासत में लेकर जेल भेजा जाएगा
इससे पहले सीबीआई के स्पेशल पीपी बीएमपी सिंह (PP BMP Singh) ने बताया कि इस मामले में 575 गवाह (575 witness) पेश किए गए। जबकि, बचाव पक्ष से 25 गवाह पेश हुए। सीबीआइ ने 15 ट्रंक दस्तावेज अदालत में पेश किए हैं। इस मामले में स्कूटर, मोपेड और मोटरसाइकिल (scooter, moped and motorcycle) से पशुचारा, सांड, भैंस, बछिया, बकरी और भेड़ झारखंड लाए गए थे। इस गड़बड़ी को साबित करने के लिए सीबीआइ ने कई राज्यों के 150 डीटीओ और आरटीओ (150 DTO and RTO)को गवाह के रूप में शामिल किया था। इसमें उन्होंने उक्त वाहनों के पंजीयन (Registration)की जानकारी दी थी।
डोरंडा कोषागार (Doranda Treasury) से 139.35 करोड़ रुपये की अवैध निकासी से जुड़े मामले में लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav), पूर्व सांसद जगदीश शर्मा, डा. RK राणा, पीएसी (PAC) के तत्कालीन अध्यक्ष ध्रुव भगत, डॉ. केएम प्रसाद, डा. गौरी शंकर प्रसाद, तत्कालीन पशुपालन सचिव बेक जूलियस, समेत 99 अभियुक्त ट्रायल फेस (Facing Trial) कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें  : चारा घोटाला के दोषी लालू यादव का हाथी से व्हीलचेयर तक 26 सालों का सफर

स्टेट गेस्टहाउस में सजा लालू का दरबार:

अदालत में पेश होने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद रविवार को ही रांची पहुंच गए थे। वे मोरहाबादी स्थित स्टेट गेस्ट हाउस में रुके हुए हैं। सोमवार को राजद सुप्रीमो से मिलने के लिए बिहार, झारखंड के नेताओं का तांता लगा रहा। देर शाम तक गेस्ट हाउस परिसर में कार्यकर्ताओं की भीड़ जुटी रही।