बिहार के पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव ने मंगलवार को सक्रिय राजनीति में वापसी का ऐलान किया है। राष्ट्रीय जनता दल की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल होने के लिए दिल्ली से बिहार आने के पहले पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने चुनाव लड़ने की संभावना जताई है। पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव ने कहा कि अभी कोर्ट से मुझे चुनाव लड़ने की अनुमति नहीं है। अनुमति मिलते ही चुनाव लड़कर संसद आऊंगा। लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कुछ भी बोलते रहते हैं, मैं संसद पहुंचकर उनकी बातों का जवाब जरूर दूंगा।

यूपी में होगा भाजपा का सफाया

राजद के अध्यक्ष लालू ने इसी महीने होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर भी हमला किया। उन्होंने कहा कि उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री इलेक्शन के दौरान काफी अभद्र भाषा का प्रयोग कर रहे हैं। उनकी बातों से साफ दिख रहा है कि वह नर्वस हो गए हैं। लालू यादव ने कहा कि योगी के बयानों में सिर्फ गाली-गलौज करना बचा है। उन्होंने कहा कि साफ झलक रहा है कि इसबार यूपी में भाजपा का सफाया होने वाला है।

केंद्र बिहार को दे विशेष राज्य का दर्जा

बड़े बेटे तेजस्वी यादव को राजद अध्यक्ष बनाने से जुड़े सवाल पर लालू यादव ने कहा कि मीडिया में ऐसी बातें आती रहती हैं। RJD के राष्ट्रीय अधिवेशन का यह मुद्दा नहीं है। हम पहले भी ये बात साफ कर चुके हैं। विशेष राज्य के मुद्दे पर लालू यादव ने कहा कि जदयू और भाजपा एक साथ होने के बाद भी बिहार को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिला पा रहे हैं। लालू ने कहा कि बीजेपी गुमराह कर रही है। राजद सुप्रीमो ने कहा कि केंद्र बिहार के तरह-तरह के मदों में पैसे देने की बात कहकर पल्ला झाड़ रहा है। ऐसी सहायता की बिहार को जरूरत नहीं है। इसके बदले विशेष राज्य का दर्जा दिया जाना चाहिए।