स्वर कोकिला और भारत रत्न लता मंगेशकर का आज निधन हो गया । वह कैंडी ब्रीच अस्पताल में भर्ती थी । लता जी के निधन के बाद सरकार ने देश में 2 दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित कर दिया, वही उनके निधन पर कई लोगों ने ट्वीट कर शोक व्यक्त किया, भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और स्टार बल्लेबाज विराट कोहली ने ट्वीट पर अपना शोक व्यक्त किया।

link : भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और स्टार बल्लेबाज विराट कोहली ने ट्वीट पर अपना शोक व्यक्त किया

कई अन्य क्रिकेटर भी इस दुखद घटना पर शोक जताया रहे हैं।  आपको बताना चाहेंगे कि लता मंगेशकर को क्रिकेट से काफी लगाव था और उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम के लिए एक ऐसा योगदान दे रखा है जिसे कभी बुलाया ही नहीं जा सकता।

हालांकि आज बीसीसीआई (BCCI) सबसे पैसे वाला क्रिकेट बोर्ड है और अपने क्रिकेटरों पर रुपयों की बारिश करता रहता है लेकिन एक ऐसा भी वक्त हुआ करता था जब बोर्ड के पास कुछ पैसा नहीं था । बात है 1983 की जब विश्व विजेता टीम इंडिया को इनाम देने के लिए बीसीसीआई के पास पैसा नहीं था, 1983 में जब टीम इंडिया वर्ल्ड कप जीती थी तब बीसीसीआई के अध्यक्ष एन के पी साल्वे (NKP Salve) हुआ करते थे वह खिताब जीतने वाली टीम को खिलाड़ियों को इनाम देना चाहते थे लेकिन बोर्ड के पास रुपयों की कमी की वजह से ऐसा हो नहीं पा रहा था ।

ऐसी स्थिति में साल्वे ने लता मंगेशकर से मदद के लिए गुहार लगाई लता मंगेशकर ने इस मौके पर टीम की मदद के लिए हामी भी भरी। उन्होंने दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में एक कॉन्सर्ट किया और इस कॉन्सर्ट से 2 लाख रुपए इकठ्ठे किए और इन पैसों से एक-एक लाख 1983 की भारतीय टीम के सभी सदस्यों को इनाम के रूप में दिए गए। आपको जानकर शायद हैरानी होगी मगर लता दी ने इस कंसर्ट के लिए एक भी रुपया नहीं लिया था ।

ये भी पढ़ें : LATA MANGESHKAR PASSES AWAY: साल 1963 में खाने में दिया गया था जहर –

लता मंगेशकर भारतीय टीम के मैचों में काफी दिलचस्पी रखती थी अक्सर बड़े मैचों की जीत के बाद में रिएक्शन भी देते थे इतना ही नहीं सचिन तेंदुलकर से भी उनके रिश्ते काफी अच्छे माने जाते थे सचिन ने अपनी मां मानते थे आदि ने सचिन तेंदुलकर को भारत रत्न दिए जाने की बात कही थी और सचिन तेंदुलकर ने भी लता मंगेशकर जी के लिए सार्वजनिक तौर पर अपना सम्मान जाहिर किया

ये भी पढ़े : अपनी सुरीली आवाज से लोगों को मंत्रमुग्ध कर देने वाली भारत रत्न लता मंगेशकर के जाने बाद शोकाकुल हुआ सम्पूर्ण राष्ट्र, श्रद्धांजलि का लगा तांता