आईआईटी मद्रास (IIT Madras) मे बनी रिसर्च-बेस्ड कैरेवैन बनाने वाली कंपनी कैंपरवैन फैक्ट्री से महिंद्रा एंड महिंद्रा (Mahindra and Mahindra) ने हाथ मिला लिया है और इस कोलेबरेशन में भारतीय बाजार के लिए बजट में फिट होने वाली लग्जरी काम पर बनाने का करार भी किया गया है।
महिंद्रा की बहुचर्चित गाड़ी बोलेरो अब डबल कैंपर गोल्ड प्लेटफार्म पर आधारित रहेगी जिसे मुख्य रूप से सेल्फ ड्राइव टूरिज्म सेक्टर के लिए तैयार किया जाना है।
बोलेरो डबल कैप कैंपर से कोविड-19 महामारी के दौरान सैलानियों का ध्यान खींचा जा सकेगा और महिंद्रा से मिली जानकारी के अनुसार पहली बार किसी OEM द्वारा कैरेवन सेंगमेंट में इस तरह का कोई वाहन बनाया जा रहा है।
महिंद्रा कंपनी द्वारा प्रेस को दिए गए बयान में यह जानकारी दी गई कि बोलेरो गोल्ड प्लेटफार्म पर बने लग्जरी कैंप ट्रक के साथ और भी कई सुविधाएं दी जाएंगी जिसमें स्मार्ट वाटर सलूशन, आरामदायक इंटीरियर और खूबसूरती से डिजाइन किया गया फिटिंग एक्सटीरियर है जो यात्रियों को बहुत पसंद आएगा।
हर एक कैंपर ट्रक में कुल 4 लोगों के सोने की व्यवस्था, उनके बैठने और खाने की व्यवस्था इसके साथ ही शॉवर, बायो टॉयलेट, छोटे फ्रिज और माइक्रोवेव जैसी सभी सुविधाओं से लैस किचन और एक वैकल्पिक एयर कंडीशनर भी शामिल है।
एक मुख्य बात यह भी है कि इस वाहन को ड्राइव करने के लिए किसी भी खास प्रकार के लाइसेंस की कोई जरूरत नहीं होगी और टूर एजेंसी आए इस वाहन को किराए पर भी दे सकती हैं। कंपनी का मानना है कि ऐसे में टूरिस्ट को ना सिर्फ निजी यातायात मिलेगा बल्कि यह पहले से अधिक सुरक्षित भी होगा।

ये भी पढ़ें : जेलेंस्की की यूरोपीय नेताओं को चेतावनी, बोले- पुतिन को रोका नहीं तो मिट जाएगा यूरोप
महिंद्रा आटोमोटिव्स की मार्केटिंग के वाइस प्रेसिडेंट हरीश लालचंदानी का कहना है कि इस सेगमेंट में महिंद्रा की एंट्री से ट्रेवल पसंद करने वाले उन सभी लोगों की जरूरतें पूरी हो पाएगी जिनके लिए सड़क ही मन से लें और यात्रा के दौरान वह पूरी आजादी चाहते हैं।