विज्ञान-टेक्नॉलॉजी

Meta ने बच्चों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए फेसबुक और इंस्टाग्राम से 2.6 करोड़ से अधिक खराब सामग्री को हटाया।

Meta

मार्क जुकरबर्ग की कंपनी Meta ने लगभग २६ मिलियन (२.६ करोड़ से अधिक) खराब सामग्री को अपने फेसबुक और इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स से हटा दिया है। Meta की पॉलिसी के अनुसार, फेसबुक से लगभग 19.8 मिलियन, या 1.98 करोड़ खराब सामग्री हटा दी गई है। इसके अलावा, दिसंबर महीने में मेटा ने इंस्टाग्राम से 6.2 मिलियन, या 60 लाख गलत सामग्री को हटा लिया था।

मेटा ने हटाए करोड़ों कंटेंट

आपको बता दें कि Meta ने नवंबर महीने में भारत में फेसबुक से 10.5, यानी लगभग 1.05 करोड़ और इंस्टाग्राम से 2.5, यानी लगभग 25 लाख खराब सामग्री को हटा दिया था। लेकिन दिसंबर में फेसबुक का आंकड़ा 1.05 करोड़ से 1.98 करोड़ तक पहुंच गया, जबकि इंस्टाग्राम का आंकड़ा 25 लाख से 62 लाख तक पहुंच गया।

आपको बता दें कि इंस्टाग्राम और फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म यूजर्स को रिपोर्ट करने की अनुमति देते हैं। यदि इनके यूजर्स को किसी कंटेंट में कोई बुराई नज़र आती है, तो वे फेसबुक या इंस्टाग्राम को रिपोर्ट करके इसकी शिकायत कर सकते हैं।

फेसबुक और इंस्टाग्राम ने क्या किया

हाल ही में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, फेसबुक ने 1 दिसंबर से 31 दिसंबर के बीच भारतीय यूजर्स से 44,332 रिपोर्ट दर्ज की, जिसमें से 33,072 का समाधान किया गया था। यूजर्स ने फेसबुक के नियमों का उल्लंघन करते हुए हेट स्पीच, फेक न्यूज़ और उत्पीड़न जैसे कंटेंट की रिपोर्ट की।

Meta ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि इन 44,332 रिपोर्ट्स में से 11,260, यानी शिकायतों का खास परीक्षण किया है. इसके बाद, कंपनी ने अपनी नीतियों के अनुसार 6,578 रिपोर्टों पर कार्रवाई की है, जबकि बाकी 4,682 रिपोर्टों पर अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है।

इंस्टाग्राम के बारे में, दिसंबर में भारतीय यूजर्स ने 19,750 रिपोर्ट अपलोड की थीं। इंस्टाग्राम ने इनमें से 9,555 मामलों को जल्दी हल किया और 10,195 रिपोर्ट्स को खास रूप से देखा. 6,028 रिपोर्टों पर कंपनी ने अपनी नियमों के अनुसार कार्रवाई की, जबकि बाकी 4,167 रिपोर्टों पर अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया है।

Jio AirFiber ने 3 डेटा बूस्टर प्लान शुरू किए, जो यूजर्स को 1000GB हाई-स्पीड इंटरनेट डेटा देगा

सोशल मीडिया पर गिरी थी गाज

आपको बता दें कि पिछले कुछ समय में अमेरिका में मेटा, स्नैपचैट, टिकटॉक और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया की प्रमुख कंपनियों को भारी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा है। अमेरिकी सांसदों ने मेटा सहित इन सोशल मीडिया साइट्स पर बच्चों की सुरक्षा से खेलने का आरोप लगाया। मार्क जुकरबर्ग सहित इन प्लेटफॉर्मों के सीईओ को एक अमेरिकी सासंद ने बताया कि आपके हाथ खून से रंगे हुए हैं।

बाद में, मार्क जुकरबर्ग ने सोशल मीडिया पर भ्रामक सामग्री से पीड़ित हुए बच्चों और उनके माता-पिता से माफी मांगी। अब देखना होगा कि मेटा और ये सभी ऐप आने वाले समय में बुरे सामग्री और बच्चों की सुरक्षा के बारे में क्या करेंगे।

फेसबुक और ट्विटर पर हमसे जुड़ें और अपडेट प्राप्त करें:

facebook-https://www.facebook.com/newz24india

twitter-https://twitter.com/newz24indiaoffc

Related Articles

Back to top button
Share This
9 Tourist Attractions You Shouldn’t Miss In Haridwar चेहरे पर चाहिए चांद जैसा नूर तो इस तरह लगायें आलू का फेस मास्क हर दिन खायेंगे सूरजमुखी के बीज तो मिलेंगे इतने फायदे हर दिन लिपस्टिक लगाने से शरीर में होते हैं ये बड़े नुकसान गर्मियों के मौसम में स्टाइलिश दिखने के साथ-साथ रहना कंफर्टेबल तो पहनें ऐसे ब्लाउज
9 Tourist Attractions You Shouldn’t Miss In Haridwar चेहरे पर चाहिए चांद जैसा नूर तो इस तरह लगायें आलू का फेस मास्क हर दिन खायेंगे सूरजमुखी के बीज तो मिलेंगे इतने फायदे हर दिन लिपस्टिक लगाने से शरीर में होते हैं ये बड़े नुकसान गर्मियों के मौसम में स्टाइलिश दिखने के साथ-साथ रहना कंफर्टेबल तो पहनें ऐसे ब्लाउज