73वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजपथ पर आयोजित परेड में शिक्षा मंत्रालय की झांकी को केंद्रीय विभागों की श्रेणी में सबसे अच्छी झांकी के पुरस्कार के लिए चुना गया है । केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने शुक्रवार को जानकारी दी ।

केंद्रीय शिक्षामंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने ट्वीट कर कहा कि 73 वें गणतंत्र दिवस परेड में विभिन्न श्रेणियों में सर्वश्रेष्ठ झांकियों का पुरस्कार जीतने वाले सभी विजेताओं को ढेर सारी बधाई । केंद्रीय विभागों की श्रेणी में शिक्षा मंत्रालय की झांकी को सर्वश्रेष्ठ झांकी का पुरस्कार मिलने से खुशी हुई । केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय और कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय की झांकी का विषय ‘राष्ट्रीय शिक्षा नीति’ था

https://newz24india.com/actor-ranbir-kapoor-copies-girlfriend-alia-bhatts-pose/

झांकी के सामने के हिस्से में शिक्षा के क्षेत्र में भारत के गौरवशाली अतीत को दर्शाया गया है, वेदों से शुरू होकर, शिक्षा की गुरुकुल प्रणाली और नालंदा जैसी प्राचीन यूनिवर्सिटी जहां पढ़ाई करने के लिए दुनिया भर से छात्र एकत्र होते थे ।

झांकी के पीछे के हिस्से में एक चमकदार बल्बनुमा मस्तिष्क जैसी आकृति थी जो नवाचार और रचनात्मकता का प्रतीक थी । विभिन्न समूहों के छात्रों ने झांकी के साथ कौशल विकास और आनंदमय शिक्षा को चित्रित किया, जबकि झांकी के जरिये नवीन तकनीकों जैसे संवर्धित वास्तविकता और आभासी वास्तविकता पर जोर देने की अपील की गयी । झांकी के ऊपर रखी गई डिजिटल पुस्तक की LED स्क्रीन पर वीडियो में बहु-विषयक शिक्षा, अनुसंधान और नवाचार, startup, रोबोटिक्स और मेटावर्स का चित्रण किया गया है । झांकी के दोनों ओर प्राचीन काल से लेकर आधुनिक युग तक के शिक्षाविदों और वैज्ञानिकों के चित्र भी दिखाई दिये थे ।