मधुबाला ( 14 फ़रवरी 1933-23 फ़रवरी 1969) भारतीय हिन्दी फ़िल्मों की एक महानतम अभिनेत्री थी। उनके अभिनय में एक आदर्श भारतीय नारी को देखा जा सकता है। आज अगर वो जिन्दा होती तो उनका दिल भी अपनी 96 साल की बड़ी बहन कनीज बलसारा को देखा कर भर आता , जिनकी बहु ने उनको घर से भगा दिया है।

आपको बता दे की कनीज न्यूजीलैंड में रह थी, जहां उनकी बहू समीना ने उन्हें घर से निकाल दिया है। इसके बाद वह मुंबई वापस लौट आई हैं। उनके पास न पैसे हैं और न ही कोई सपोर्ट है। कनीज 29 जनवरी को रात आठ बजे मुंबई आई है।वही दूसरी ओर उनकी खुद की बेटी को कनीज जी की ये हालत की जानकारी चचेरे भाई के जरिये मिली है।

मीडिया से बातचीत में कनीज की रिश्तेदार परवीज ने बताया कि ‘कनीज अपने पति के साथ 17-18 साल पहले न्यूजीलैंड गई थी। वह अपने बेटे फारूक से बेहद प्यार करती हैं। वह उसके बिना नहीं रह सकती। वहीं, फारूक भी अपनी मम्मी को बेहद प्यार करते थे। वह अपने पेरेंट्स को न्यूजीलैंड लेकर चले गए थे। वे वहां पर करेक्शन डिपार्टमेंट में काम करते थे। हालांकि, मेरी भाभी समीना उन दोनों को पसंद नहीं करती थीं। वह दोनों के लिए न कभी खाना बनाती थीं। मेरे भाई फारूक उनके लिए रेस्टोरेंट से खाना लाते थे।’

परवीज आगे कहती हैं, ‘समीना के दो बच्चे हैं। समीना की एक बेटी (कनीज की पोती) की शादी हो चुकी है और वह ऑस्ट्रेलिया चली गया है। लेकिव, वह भी मम्मी के साथ बुरा बर्ताव करती थीं। वह तब अपने भाई के साथ थीं जब कनीज को घर से निकाल दिया। मेरे भाई की मौत आठ जनवरी को हो गई थी इसके बाद समीना के अत्याचार बढ़ गए। सबसे बुरी चीज मुझे एयरपोर्ट से फोन आया कि मम्मी के पास आरटीपीसीआर टेस्ट करवाने के पैसे नहीं है। मैंने पैसे दिए इसके बाद उन्होंने कहा कि फारूक मर गया? मैं उसको कब्र में डालकर आई हूं। मैं भूखी हूं क्या मुझे खाना मिलेगा।