नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्‍ली में गणतंत्र दिवस के दिन जब देश के राष्‍ट्रपति और केंद्र सरकार का पूरा अमला राजपथ पर मौजूद था, उससे 15 किलोमीटर पहले शाहदरा इलाके में महिला के साथ दुर्व्‍यवहार हो रहा था। ताज्‍जुब की बात तो ये है कि जिन लोगों ने यह घिनौना काम किया, उसमें महिलाएं भी शामिल थी। इस दौरान लोगों ने महिला के बाल काटे, उसके कपड़े फाड़े, उसका चेहरा काला कि‍या और फ‍िर उसे स्‍थानीय इलाके की सड़कों पर घुमाया। आरोप है कि महिला के साथ कथित तौर पर यौन शोषण भी किया गया। आरोपी इलाके में अवैध शराब बेचने वाले बताए जा रहे हैं। घटना के एक वीडियो में महिला पर हमला करते हुए दिखाया गया है।

क्‍या कह रही है पुलिस
शाहदरा के पुलिस उपायुक्त आर सथिया सुंदरम की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार इस मामले में चार महिलाओं को गिरफ्तार किया गया है। संबंधित थाने में यौन शोषण और दुराचार का मामला दर्ज किया गया है। डीसीपी की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार पीड़ित को हर संभव मदद और काउंसलिंग दी जा रही है। हम मामले को गंभीरता से ले रहे हैं। मामले को देखने के लिए अधिकारियों की एक टीम बनाई गई है, हम जल्द ही सभी आरोपियों को गिरफ्तार करेंगे।

क्‍या है आरोप
दिल्‍ली पुलिस सके सूत्रों के अनुसार पीड़ित महिला पिछले कुछ सालों से शाहदरा इलाके में रह रही है। महिला शादीशुदा है और उसका एक बच्चा भी है। उसके पड़ोस में रहने वाले एक शख्स का उसके साथ एकतरफा अफेयर चल रहा था। उसने कई बार उसकी पहल को ठुकरा दिया था। कुछ दिन पहले युवक ने कथित तौर पर खुदकुशी कर ली थी। उसके परिवार का मानना था कि उसने महिला की वजह से आत्महत्या की है। घटना के बाद से शख्स के परिजन नाराज हो गए और पीड़िता पर सबसे पहले हमला परिवार की महिलाओं ने ही किया। पुलिस तथ्यों और आरोपों की जांच कर रही है।

दिल्‍ली महिला आयोग मौके पर पहुंची
महिला का अस्पताल में इलाज चल रहा है। उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है। मामले के जांच अधिकारी ने उसका बयान दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले में कानूनी राय भी ले रही है। इस बीच, दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने इस मामले में दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया है। मालीवाल ने कहा कि राजधानी से यह सबसे दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। स्वाति मालीवाल ने अपनी टीम के साथ अस्पताल में पीड़िता से मुलाकात की और उसका बयान दर्ज किया. उन्होंने पीड़िता को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है।