अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2022 (Inter national women’s day 2022) के खास मौके पर दिल्ली पुलिस की साउथ डिस्ट्रिक्ट में आने वाले डिफेंस कॉलोनी थाने (defense colony station )को आज 1 दिन के लिए पूरी तरीके से महिला पुलिस थाना (women’s police station) बनाया गया और स्थानिक सारी जिम्मेदारी आज महिला पुलिस कर्मियों के कंधों पर है फिर चाहे वह शिकायतकर्ता की शिकायत को देखना हो या इमरजेंसी ड्यूटी देना या फिर किसी भी कॉल पर घटनास्थल पर पहुंचना। यहां पर पहले से ही महिला एसएचओ (SHO) तैनात है।
साउथ डिस्ट्रिक्ट की डीसीपी (DCP south district) बेनिता मैरी जाकर ने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा दिल्ली पुलिस के लिए सदैव प्राथमिकता रही है और आज डिफेंस कॉलोनी थाने को 1 दिन के लिए महिला पुलिस थाना बनाया गया है जहां आज सारी जिम्मेदारी महिला पुलिसकर्मी ही निभाएंगे।
इसके पीछे उद्देश्य यह है कि महिलाओं को सुरक्षित महसूस करवाया जा सके और उनके बीच यह संदेश दिया जा सके कि वह पुलिस के लिए बेहद खास हैं और उनकी सुरक्षा पुलिस की प्राथमिकता है।
पेट्रोलिंग हो या पीसीआर कॉल पर जाना आज सब कुछ महिला पुलिसकर्मी ही करेंगी।

ये भी पढ़ें : महिला दिवस विशेष: कैसी भी हो परेशानी, महिलाओं के पास है ये कानूनी रास्ते?
हर साल की तरह इस साल भी 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (Inter national women’s day ) मनाया जा रहा है और अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को मनाया जाने का मुख्य देश हमारे समाज में महिलाओं को सशक्त करना एवं उनकी आर्थिक स्थिति राजनीतिक एवं सामाजिक भागीदारी को बढ़ाना इसके साथ ही विभिन्न क्षेत्रों में उनके अधिकारों के प्रति उन्हें जागरूक बनाना है।
हम देख रहे हैं कि समाज में महिलाओं का कदास लगातार बढ़ता जा रहा है और महिलाएं हर क्षेत्र में पुरुषों से आगे भी निकल रहे हैं इसी जज्बे को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली पुलिस ने 1 दिन के लिए इस पुलिस स्टेशन की पूरी जिम्मेदारी महिला पुलिसकर्मियों को सौंपी है।