रूस-युक्रेन युद्ध के बीच फंसे इलाहाबाद(प्रयागराज) के छात्रों के वापस लौटने का क्रम तेज हो गया है। उन्हें एयर इंडिया(AIR INDIA) की फ्लाइट से दिल्ली और मुंबई एयरपोर्ट ले आया जा रहा है। फिर वहां से दूसरी फ्लाइट व सड़क मार्ग के जरिए प्रयागराज भेजा जा रहा है। प्रयागराज पहुंच चुके 3 छात्रों को गुरुवार शाम वाराणसी बुलाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एयरपोर्ट पर मुलाकात की। प्रधानमंत्री मोदी ने उनसे बात की और कहा कि आगे भी उनके भविष्य का ख्याल रखा जाएगा। प्रधानमंत्री से मिलकर तीनों छात्र भविष्य के लिए आशान्वित हुए। छात्रों ने बताया कि मोबाइल जमा करा लिए जाने की वजह से वे प्रधानमंत्री मोदी के साथ फोटो नहीं ले सके।

ADM CITY के साथ भेजे गए थे वाराणसी

 

प्रयागराज के जंघई बाजार के रहने वाले विशाल कुमार उमरवैश्य, रम्मन का पूरा सुलेम सराय की रहने वाली रूचि पांडे व साकेत नगर धूमनगंज के रितिक दिवाकर को गुरुवार की सुबह जिला प्रशासन द्वारा फोन पर सूचना दी गई कि उन्हें प्रधानमंत्री से मिलने के लिए वाराणसी चलना है। कुछ ही देर में सभी को जिलाधिकारी कार्यालय पर एकत्रित किया गया। जिलाधिकारी संजय खत्री ने सभी से मुलाकात की और उन्हें पीएम मिलने संबंधी सभी जानकारियां दी प्रयागराज से तीनों छात्रों को एडीएम सिटी के साथ भेजा गया था।

प्रधानमंत्री मोदी से मिलने के लिए उत्सुक

रितिक दिवाकर ने फोन पर बताया कि जब उन्हें सूचना दी गई कि उनसे पीएम मिलने वाले हैं तो पहले उन्हें यकीन नहीं हुआ। दो बार नंबर को वापस देखा और दोबारा से पूछा कि क्या पीएम नरेंद्र मोदी मुझसे मिलेंगे। हां में जवाब मिलने के बाद रितिक ने अपनी तैयारी की और अब वह एडीएम सिटी के साथ पीएम से मिलने के लिए बनारस पहुंच चुके हैं। वहीं रूचि व विशाल भी पीएम से मिलने के लिए बहुत उत्सुक हैं। उन्होंने बताया कि सुरक्षा कारणों से अभी वह बात नहीं कर सकते हैं। प्रधानमंत्री से मिलने के बाद वह उनसे हुई मुलाकात व बातचीत के बारे में जानकारी देंगे। शाम करीब साढ़े 4 बजे वाराणसी के बाबतपुर एयरपोर्ट पर रितिक, विशाल और रूचि पांडेय से पीएम मोदी ने मिलकर बात की। कुछ देर बातचीत के बाद प्रधानमंत्री दिल्ली के लिए रवाना हो गए।

 

यूक्रेन से लौटे हैं तीनों छात्र

विशाल, रूचि व रितिक तीनों यूक्रेन में एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए गए हुए हैं। वहां युद्ध शुरू हुआ तो वह बंकर में छिपकर बार्डर तक पहुंचने का प्रयास कर रहे थे। रोमानिया बार्डर पार करने के बाद उन्हें दूतावास से मदद उपलब्ध कराई गई और एयर इंडिया(AIR INDIA ) की फ्लाइट से सभी को भारत वापस ले आया गया। उनके घर में इस समय खुशी का माहौल है। प्रधानमंत्री से मिलने की सूचना आई तो खुशियां और बढ़ गई हैं।