ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेटर शेन वार्न ने बेशक 52 साल की उम्र में इस दुनिया के अलविदा कह दिया हो, लेकिन अपने क्रिकेट के जरिए वो दुनियाभर के खेल प्रेमियों के दिल में रहेंगे। शेन वार्न को यूं ही दुनिया का महान स्पिनर नहीं कहा जाता है। उन्होंने ऐसे कमाल किए हैं जो किसी भी क्रिकेटर या कहें तो किसी भी गेंदबाज के लिए आसान नहीं है। वो TEST क्रिकेट में आस्ट्रेलिया के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज तो हैं ही साथ ही वो क्रिकेट के सबसे लंबे प्रारूप में सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में दुनिया में दूसरे नंबर पर मौजूद हैं।

 

महान क्रिकेटर शेन वार्न ने वैसे तो कई बार कमाल की गेंदबाजी की जिसे कभी नहीं भूला जा सकता है, लेकिन एक बार उन्होंने ऐसी गेंद फेंकी थी जिसे सदी की गेंद करार दिया गया था। इस गेंद को शायद ही कोई भूल सकता है। 1993 में ENGLAND के खिलाफ एशेज सीरीज के दौरान उन्होंने एक ऐसी गेंद फेंकी थी, जिसको अगर आज भी देखा जाए तो आप उसे असाधारण तो कहेंगे ही साथ ही साथ आप उसे किसी चमत्कार से कम नहीं बताएंगे, क्योंकि आमतौर पर क्रिकेट में ऐसा देखा नहीं जाता।
दरअसल, 4 रन पर बल्लेबाजी कर रहे माइक गैटिंग को शेन वार्न ने एक ऐसी गेंद डाली, जिसे वो जब तक समझ पाते तब तक उनके आफ स्टंप्स का बेल उड़ गया था। वार्न की इसी गेंद को बाल आफ द सेंचुरी कहा गया था, क्योंकि वार्न ने गेंद को लेग स्टंप्स के काफी बाहर पिच कराया था और गेंद ने इतना टर्न लिया कि माइक गैटिंग के आफ स्टंप्स से जा टकराई। इसे देखकर हर कोई हैरान था। माइक गेटिंग से लेकर इंग्लिश कैप्टन ग्राहम कोच, फील्ड अंपायर और फील्डिंग कर रही आस्ट्रेलियाई टीम का हर खिलाड़ी इससे हैरान था।