जम्मू और कश्मीर में सुरक्षा स्थिति को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की। अमित शाह ने उस बैठक में सुरक्षा ग्रिड को और मजबूत करने का निर्देश दिए। जिससे सीमा पार से घुसपैठ की गतिविधियों को सुनिश्चित किया जा सके और आतंकवाद का खात्मा हो सके।

जम्मू-कश्मीर की सुरक्षा स्थिति को लेकर नई दिल्ली में शुक्रवार को हुई समीक्षा बैठक में सुरक्षा एजेंसियों के प्रयासों की गृह मंत्री ने सराहना की। गृह मंत्री ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में सुरक्षा एजेंसियों के बेहतर प्रयासों की वजह से ही जम्मू-कश्मीर में आतंकी घटनाओं में कमी देखी गई है। जहां वर्ष 2018 में 417 आतंकी घटनाएं हुईं थी वहीं वर्ष 2021 में यह घटकर 229 हो गई।

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल सहित सेना व जम्मू-कश्मीर सरकार तथा भारत सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी समीक्षा बैठक में मौजूद रहे।

जम्मू-कश्मीर में विकास को लेकर केंद्र सरकार ने कई पहल की हैं। यहां कई योजनाओं का क्रियान्वयन आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद सरकार ने किया है।