बढ़ते बच्चों की सेहत और संपूर्ण पोषण की चिंता माँ को हर वक्त सताती है। जैसे ही बच्चा 1 साल का होने लगता है कभी उसकी स्वास्थ्य तो कभी सेहत के लिए उसकी डाइट में क्या दें क्या न दें इससे परेशान होती रहती हैं । बच्‍चे के  12 महीने के होने पर उसकी खाने की आदतें और पोषण से जुड़ी जरूरतें बदल जाती हैं। इस  दौरान बच्‍चे के दांत निकलने भी शुरू होते हैं और इस समय बच्‍चों की भूख भी पहले से कम हो जाती है। इसलिए बच्‍चे को  ठोस आहार में अलग-अलग तरह के विकल्‍पों की जरूरत होती है।
एक साल के बच्‍चे को रोजाना विकास के लिए 1,000 कैलोरी, 700 मिलीग्राम कैल्शियम, 600 इंटरनेशनल यूनिट विटामिन डी और 7 मिलीग्राम आयरन चाहिए होता है। ऐसे में आपको एक साल के बच्‍चे के लिए हेल्‍दी और पोषक तत्‍वों से युक्‍त फूड्स चुनने में दिक्‍कत हो सकती है।

दाल

दाल में प्रचुर मात्रा में प्रोटीन होते हैं। आप बच्‍चे को  दाल का सूप बनाकर भी पिला सकती हैं। इसके अलावा वेजिटेबल सूप भी बढ़ते बच्‍चों के लिए अच्‍छा रहता है। आप गाजर, आलू, ब्रोकली और टमाटर आदि दाल में मिक्स करके उसका सूप बनाकर बच्‍चे को पिला सकती हैं। इससे बच्‍चे की संपूर्ण सेहत को लाभ होता है।

ओट्स

सेहत के लिए ओट्स बहुत फायदेमंद होते हैं। इनमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, खनिज पदार्थ, हेल्‍दी फैट, फाइबर और कई तरह के विटामिन मौजूद होते हैं। ओट्स के अलावा बच्‍चों के खाने में साबुत अनाज भी शामिल होने चाहिए। आप गेहूं या चावल से बच्‍चे के लिए बेबी फूड बना सकती हैं। इसमें  फाइबर और कार्बोहाइड्रेट भरपूर होता है।

दूध-दही

एक साल के होने तक बच्‍चा मां का दूध पीना कम कर देता है और अब वह पोषण के लिए अन्‍य चीजें खाना शुरू करता है। अगर आपके बच्‍चे ने ब्रेस्‍टमिल्‍क पीना बिलकुल बंद कर दिया है तो आप उसे गाय का दूध पिलाना शुरू कर सकती हैं। सोया मिल्‍क भी अच्‍छा रहेगा। प्‍यूरी या बेबी फूड में दही का इस्‍तेमाल कर सकती हैं।

ब्रोकली
बच्‍चे को ब्रोकली उबाल कर खिलाएं। ब्रोकली फाइबर और विटामिन सी से भरपूर होती है। इससे पेट भरा रहता है और आंखें स्‍वस्‍थ होती हैं। आप बच्‍चे को गाजर और शकरकंद भी उबाल कर खिला सकती हैं।

एवोकाडो

एक साल के बच्‍चे के लिए एवोकाडो बहुत हेल्‍दी फल रहेगा। इसमें हेल्‍दी फैट भरपूर होते हैं जो बच्‍चे के दिमाग और हार्ट के लिए फायदेमंद होते हैं। एवाकाडो को मैश करके बच्चो को खिलाया जा सकता है।

नोट: दी गई जानकारी न्यूट्रिशन एक्स्पर्ट के सुझाव पर आधारित है।