राज्यउत्तराखण्ड

Uttarakhand Lok Sabha Election 2024: शहर से गांव तक के मतदाताओं ने अल्मोड़ा सीट पर रुचि नहीं दिखाई, बस इतना मतदान हुआ।

Uttarakhand Lok Sabha Election 2024

Uttarakhand Lok Sabha Election 2024: इस बार अल्मोड़ा संसदीय सीट पर मात्र 45.17 प्रतिशत लोगों ने मतदान किया है। 1999 के लोकसभा चुनावों में इससे कम मतदान हुआ था। यह कम मतदान प्रतिशत अल्मोड़ा संसदीय सीट पर कोई नई घटना नहीं है। इस बार, इन हालात के अलावा जनता महंगाई, बेरोजगारी और पलायन से परेशान रही।

मतदाता महंगाई, बेरोजगारी और अन्य मूलभूत समस्याओं से जूझ रहे थे, इसलिए वे मतदान के दिन साइलेंट होकर अपनी इच्छा व्यक्त की। इस बार अल्मोड़ा संसदीय सीट पर मात्र 45.17 प्रतिशत लोगों ने मतदान किया है। 1999 के लोकसभा चुनावों में इससे कम मतदान हुआ था।

Uttarakhand Lok Sabha Election 2024: उस समय लगातार चुनाव से लोग बहुत निराश थे। इसलिए 41.82 प्रतिशत मतदान हुआ। 2019 के चुनाव के मुकाबले अल्मोड़ा संसदीय क्षेत्र के सभी 14 में से 13 विधानसभाओं में कम मतदान हुआ।

डीडीहाट मतदान के मामले में आगे रहा। सल्ट विधानसभा में सबसे कम 32% मतदान हुआ। शहरी और ग्रामीण मतदाताओं ने इस बार भी मतदान में रुचि नहीं दिखाई।

तीसरा कोई दल ताकत में नहीं

यह कम मतदान प्रतिशत अल्मोड़ा संसदीय सीट पर कोई नई घटना नहीं है। 1952 के बाद से यहां के संसदीय चुनावों के इतिहास को देखते हुए, 2014 और 2019 के विधानसभा चुनावों में ही 50 प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ था। उससे पहले के चुनावों में भी मतदान प्रतिशत लगभग समान था। मोदी मैजिक ने इन दो चुनावों में मतदान प्रतिशत को बढ़ाया।

राष्ट्रीय हवा ही पहाड़ का वोटिंग विहेबियर निर्धारित करती है। इसलिए यहां भाजपा और कांग्रेस के अलावा कोई तीसरी पार्टी शक्तिशाली नहीं लगती। पहाड़ में मतदान प्रतिशत की कमी के कई कारण हैं। भौगोलिक विषमता सबसे बड़ी वजह है। इस बार जनता महंगाई, बेरोजगारी और पलायन से भी परेशान है।

उनमें चुनाव को लेकर कोई उत्साह या आशा नहीं थी। इस बार पहाड़ में मोदी मैजिक का प्रभाव भी नहीं देखा गया। कांग्रेस और भाजपा ने अपने पुराने प्रत्याशियों को चुनावी मैदान में उतारा। वह चौथी बार मिल रहे हैं। आम मतदाता भी प्रत्याशियों को लेकर निराश था।

अल्मोड़ा संसदीय क्षेत्र के चार जिलों अल्मोड़ा, बागेश्वर, पिथौरागढ़ और चम्पावत के कई ग्रामीण इलाकों ने भी चुनाव को नहीं छोड़ने का ऐलान किया था। प्रशासन भी उनकी मांगों पर सकारात्मक कार्रवाई नहीं कर पाया। जो मतदान के दिन भी दिखाई दिया।

इस तारीख तक, उत्तराखंड में 1164 लोगों ने हज यात्रा के लिए आवेदन किया

2024 में अल्मोड़ा संसदीय क्षेत्र में विधानसभा वार मतदान प्रतिशत

  • विधानसभा,  कुल मतदाता, प्रतिशत
  • धारचूला 87218, 48.70
  • डीडीहाट 80424, 49.20
  • पिथौरागढ़ 107582, 50.08
  • गंगोलीहाट 1011143,42
  • कपकोट 100011, 44
  • बागेश्वर 118164, 46
  • द्वाराहाट 91269, 42.10
  • सल्ट 97813, 31.10
  • रानीखेत 79099, 40
  • सोमेश्वर 87831, 44.48
  • अल्मोड़ा 87943, 43
  • जागेश्वर 94077, 45.20
  • लोहाघाट 108136, 46.20
  • चम्पावत 98617, 55.10
  • कुल मतदाता, 1339327, मतदान- 604975

2019 में विधानसभा वार मतदान प्रतिशत

  • विधानसभा, मतदान,  प्रतिशत
  • धारचूला, 45546, 51.70
  • डीडीहाट, 42268, 49.02
  • पिथोरागढ़, 56418, 51.17
  • गंगोलीहाट, 50143, 48.78
  • कपकोट, 54159, 54.57
  • बागेश्वर, 66228, 57.15
  • द्वाराहाट, 42052, 46.23
  • सल्ट, 36890, 38.42
  • रानीखेत, 37683, 45.51
  • सोमेश्वर, 43701, 50.53
  • अल्मोड़ा, 49001, 53.98
  • जागेश्वर, 44930, 49.07
  • लोहाघाट, 52933, 50.97
  • चम्पावत, 55972, 60.20
  • कुल मतदाता, 1337803
  • मतदान- 699807, 52.31

फेसबुक और ट्विटर पर हमसे जुड़ें और अपडेट प्राप्त करें:

facebook-https://www.facebook.com/newz24india

Related Articles

Back to top button
Share This
9 Tourist Attractions You Shouldn’t Miss In Haridwar चेहरे पर चाहिए चांद जैसा नूर तो इस तरह लगायें आलू का फेस मास्क हर दिन खायेंगे सूरजमुखी के बीज तो मिलेंगे इतने फायदे हर दिन लिपस्टिक लगाने से शरीर में होते हैं ये बड़े नुकसान गर्मियों के मौसम में स्टाइलिश दिखने के साथ-साथ रहना कंफर्टेबल तो पहनें ऐसे ब्लाउज
9 Tourist Attractions You Shouldn’t Miss In Haridwar चेहरे पर चाहिए चांद जैसा नूर तो इस तरह लगायें आलू का फेस मास्क हर दिन खायेंगे सूरजमुखी के बीज तो मिलेंगे इतने फायदे हर दिन लिपस्टिक लगाने से शरीर में होते हैं ये बड़े नुकसान गर्मियों के मौसम में स्टाइलिश दिखने के साथ-साथ रहना कंफर्टेबल तो पहनें ऐसे ब्लाउज