साइंस और टेक्नोलॉजी ( science and technology ) के जितने फायदे होते हैं तो कुछ नुकसान या कहें तो साइड इफेक्ट भी झेलने पड़ते हैं. कुछ ऐसा ही 5जी इंटरनेट ( 5G internet ) के साथ हो रहा है. 5जी इंटरनेट को लेकर अभी ​मंथन जारी है कि इस बीच अमेरिका से बड़ी खबर सामने आई है. अमेरिका में 5जी इंटरनेट ( 5G internet crisis in America) लगाए जाने के कारण भारतीय विमानन कंपनी एयर इंडिया ( Air India ) को अमेरिकी रूट वाली 14 उड़ानों को रद्द करना पड़ा है. यहां आप सोच रहे होंगे कि अमेरिका में 5जी की वजह से भारतीय उड़ानों को क्यों कैंसिल करना पड़ा? इसका जवाब भी हम आपको देते हैं.

 वैवाहिक दुष्कर्म मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा, आईपीसी की धारा 377 और 375 में थी विसंगति

विमान को रनवे पर रुकने में मुश्किल

दरअसल, 5जी इंटरनेट की वेव्स विमान के नेविगेशन सिस्टम में हस्तक्षेप कर सकती हैं. नागर विमानन महानिदेशालय ( DGCA ) प्रमुख अरुण कुमार ने एक न्यूज एजेंसी को जानकारी देते हुए बताया कि अमेरिका में 5जी इंटरनेट के कारण पैदा हुई स्थिति से हमारे कैरियर्स को उबारने के लिए इंडियन एविएशन रेगुलेटर काम कर रहा है. वहीं, अमेरिकी विमानन नियामक फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन ( FAA ) ने बीते दिनों 14 जनवरी को एक जानकारी साझा करते हुए कहा था कि “विमान के रेडियो अल्टीमीटर के साथ 5जी इंटरफेरेंस इंजन और ब्रेकिंग सिस्टम को लैंडिंग मोड में ट्रांसीशनिंग से रोक सकता है, जिसकी वजह से एक विमान को रनवे पर रुकने में मुश्किल हो सकती है

.UP Election: BSP ने 12 सीटों पर जारी की उम्मीदवारों की लिस्ट, कइयों का टिकट कटा

विमान की ऊंचाई को मापता है अल्टीमीटर

आपको बता दें कि अल्टीमीटर वो डिवाइस है, जो जमीन के ऊपर उड़ रहे विमान की ऊंचाई को मापता है. क्योंकि अल्टीमीटर जिस बैंड पर वर्क करता है, वह बैंड के बहुत नजदीक होता है जिस पर 5G सिस्टम काम करता है.