नई दिल्ली: कोविड-19 मामलों में गिरावट के बाद आज से राज्यों में स्कूल कॉलेज खोलने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। दिल्ली में 9वीं से 12वीं कक्षा के स्कूल आज से खुल रहे हैं। दिल्ली के डिप्टी सीएम और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने सर्वोदय कन्या विद्यालय, दिल्ली कैंट में छात्रों से बातचीत की।

कोविड-19 के मामलों में बढोतरी होने के कारण स्कूल-कॉलेज, स्पा, कोचिंग सेंटर और जिम को दिसंबर में बंद रखने का निर्णय लिया गया था। बता दें कि दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने शुक्रवार को 7 फरवरी से कक्षा 9वीं से 12वीं तक के स्कूलों के साथ-साथ उच्च शैक्षणिक संस्थानों और कोचिंग सेंटर को फिर से खोलने का फैसला किया था। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र एनसीआर में रात्रिकालीन कर्फ्यू लागू रहेगा।

राजधानी के साथ-साथ उन राज्यों में भी स्कूल ओपनिंग की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है जहां पर कोविड-19 के मामलो में गिरावट दर्ज की गई।इसमें पश्चिम बंगाल भी शामिल है। पश्चिम बंगाल में आज से कक्षा 8 से 12 वीं तक के स्कूल खुलने स्टार्ट हो चुके हैं। राज्य सरकार की जारी अधिसूचना के अनुसार, महामारी की स्थिति को देखते हुए 7 फरवरी से हर मोहल्ले में प्राथमिक से कक्षा सात तक के बच्चों के लिए खुले में शिक्षा सत्र आयोजित किये जाएंगे। मोहल्ले की शिक्षा प्रणाली को अपनाया जाएगा जिसमें नृत्य कलाओं का ज्ञान भी दिया जाएगा।

वहीं बिहार राज्य के मुखिया नीतीश कुमार ने भी सूबे में नौवीं से बारहवीं तक के स्कूल खोलने का फैसला किया है नीतीश कुमार ने रात्रिकालीन कर्फ्यू को हटा दिया है अब कोरोनावायरस इन के तहत 50 फ़ीसदी स्टाफ के साथ स्कूलों में स्टाफ को बुलाया जाएगा।गुजरात सरकार ने भी 7 फरवरी से पहली से 9 वीं कक्षा तक के लिए स्कूलों को फिर से खोलने का फैसला किया है, हालांकि ऑनलाइन कक्षाएं अभी भी जारी रहेंगी। जिसे बच्चे को ऑफलाइन कक्षाएं की आवश्यकता है आ सकता है।