भोजपुरी सिंगर मनोज तिवारी इन दिनों पूरी तरह से राजनीति में सक्रिय दिख रहे हैं वह हर एक मौके पर अपनी पार्टी यानी भारतीय जनता पार्टी का खुलकर सपोर्ट और प्रचार करते है। अभी हाल ही में मनोज तिवारी ने बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत को लेकर एक ऐसा बयान दे दिया है जिसको जानने के बाद हर कोई अचंभा कर रहा है ।

उन्होंने कहा कि अभिनेत्री कंगना रनौत अपनी मर्यादा को देती है आपको बता दें मनोज तिवारी ने हाल ही में यू्ट्यूब पर समदीश भाटिया को इंटरव्यू दिया था इस इंटरव्यू में उन्होंने अपने राजनीतिक करियर के अलावा फिल्मी सितारों के बारे में भी ढेर सारी बातें कही थी इस दौरान मनोज तिवारी ने कंगना रनौत को लेकर भी एक बड़ा बयान दे दिया ।

see also-8 February 2022 Propose Day पर ऐसे करें अपने प्यार का इज़हार

उन्होंने कहा कि कंगना रनौत को किसी की आलोचना करते वक्त मर्यादा का थोड़ा बहुत ध्यान रखना चाहिए लेकिन वह जब किसी के बारे में बातचीत करती हैं या किसी की आलोचना करती है तो वह अपनी मर्यादा खो देती हैं इसी दौरान मनोज तिवारी ने महाराष्ट्र सरकार और मुख्यमंत्री का उदाहरण दिया भोजपुरी सिंगर ने कहा कि मुझे लगता है कि कंगना रनौत को अपनी राय इतनी विस्फोटक तरीके की नहीं रखनी चाहिए कि वह सीधे उनके साथ हिट करती है।

उदाहरण देते हुए मनोज तिवारी ने कहा ,”कलाकारों का धर्म होता है” या आपको यह सब स्पष्ट रूप से तब कहना चाहिए अगर आप राजनीति में शामिल हो गए हो।

मनोज तिवारी से पूछा गया कि क्या कंगना रनोट सक्रिय राजनीति में शामिल होंगी लेकिन मनोज तिवारी ने इस सवाल का जवाब ना देकर इसे टाल दिया उसके बाद मनोज तिवारी ने आगे कहा कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद जब उन्होंने कंगना रनौत से  बात की तो ,मैं समझ गया और मुझे लगता है कि महाराष्ट्र सरकार भी उन पर थोड़ी कठोर थी जो सही नहीं था लेकिन उस समय पर भी कंगना रनौत को विनम्र रहना चाहिए कंगना रनौत को अपने विचार रखने चाहिए लेकिन किसी का अपमान करके अपने विचारों को प्रस्तुत नहीं करना चाहिए यह हमारे देश की संस्कृति नहीं है मुख्यमंत्री का पद संभालने वाले व्यक्ति का सभी को सम्मान करना चाहिए।

see also-8 February 2022 Horoscope आज इन राशि वालों के लिए है शुभ समाचार। पूरे होंगे रुके हुए काम इसके साथ ही कुंभ राशि वालों की चमक जाएगी किस्मत

अपनी बात को खत्म करते हो मनोज तिवारी ने आगे कहा लोग हमारे प्रधानमंत्री के बारे में भी ऐसी बातें कहते हैं और मैं उनसे भी यही निवेदन करना चाहूंगा कि देश में बड़े पद पर बैठे लोगों का सम्मान हमें करना चाहिए हर तरह से आलोचना करें लेकिन सम्मान के साथ में करें भाषा मर्यादित रखें और कंगना कभी-कभी भाषा में मर्यादा को पूरी तरह से खो देती हैं इसके अलावा मनोज तिवारी ने और भी बहुत  सारी बातें की।