लखनऊ: कहावत है, राजनीति में कोई किसी का नातेदार नहीं होता।उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के तारीखें जैसे-जैसे नजदीक आ रही है, नेताओं के दल-बदल का दौर भी तेज हो गया है। जहां भाजपा के खेमे से कई नेता समाजवादी पार्टी में जा चुके हैं, तो वहीं इस बीच चर्चाएं होने लगी कि, सपा सरंक्षक मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव, बीजेपी में शामिल हो सकती हैं।

मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव के भाजपा में जाने की अटकलों के बीच सपा प्रमुख अखिलेश यादव का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि ये उनके परिवार की बात है और सब ठीक है। उन्होंने भाजपा पर भी तंज कसा और कहा कि उन्हें हमारे परिवार की ज्यादा चिंता लगती है, चुनाव में किए जा रहे सारे षड़यंत्र वे सफल नहीं होने देंगे।

सपा के मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू और अखिलेश यादव के छोटे भाई प्रतीक यादव की पत्नी अपर्णा यादव के भाजपा में शामिल हो गई हैं। साथ ही हो-हल्ला भी कोई कम नहीं है, जहां राजनीतिक दल रात-दिन एक करके अपने प्रत्याशियों की लिस्ट तैयार कर रहे हैं ऐसे में यह घटना राजनीतिक दृष्टिकोण से थोड़ी विचलित करने वाली है। हालांकि इन सूचनाओं पर विराम लगाते हुए पूर्व मुुुुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि, ये उनके परिवार का मामला है और सब ठीक है।

अपर्णा यादव के भाजपा में शामिल होने की खबरों को भ्रामक बताते हुए अखिलेश ने कहा कि, भाजपा को हमारे परिवार की ज्यादा चिंता है, लेकिन इसकी कोई जरूरत नहीं है। उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए बड़े-बड़े षडयंत्र और साजिश की जा रही हैं। लेकिन वे इसमें सफल नहीं होंगे।”

इससे पहले रविवार को प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने अपर्णा यादव से मुलाकात की थी और सपा से ही चुनाव लड़ने की सलाह दी थी।