बसंत पंचमी का दिन भी शुभ दिन माना जाता है इस दिन हर एक कार्य की शुरुआत की जा सकती है अगर ज्योतिषियों की मानें तो ज्योतिष के अनुसार इस दिन पढ़ाई का शुरुआत करने का सबसे अच्छा दिन होता है शादी इस दिन हम कई व्यापारिक कार्यों को भी शुरू कर सकते हैं बसंत पंचमी का त्यौहार भारत में बसंत के मौसम की शुरुआत करता है इस वर्ष यह पर्व 5 फरवरी यानी शनिवार को मनाया जा रहा है हिंदू कैलेंडर के मुताबिक बसंत पंचमी हर वर्ष माघ महीने के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाया जाता है। इस दिन यदि आप अपने परिवार को और प्रिय जनों को मां सरस्वती का शुभ संदेश तथा शुभकामनाएं देना चाहते हैं तो हम आपको एक प्यारा सा गीत बताते हैं इसे भेजकर आप अपने परिजनों को एक प्यारा सा संदेश दे सकते हैं संदेश भेजने के बाद जो भी कमेंट आपके कमेंट सेक्शन में आए हैं उन्हें हमारे कमेंट सेक्शन में कमेंट करके हमें जरूर बताएं।

मां सरस्वती का वरदान हो आपको,

हर दिन नई मिले ख़ुशी आपको,

दुआ हमारी है खुदा से ऐ दोस्त,

जिन्दगी में सफलता हमेशा मिले आपको.

बसंत पंचमी की बधाई !

 

पीले-पीले सरसों के फूल, पीली उड़ी पतंग,

रंग बरसे पीले और छाए सरसों की उमंग,

जीवन में आपके रहे हमेशा बसंत के ये रंग,

आपके जीवन में बनी रहे खुशियों की तरंग.

 

वीणा लेकर हाथ में, सरस्वती हो आपके साथ में,

मिले मां का आशीर्वाद आपको हर दिन

मुबारक हो आपको सरस्वती पूजा का ये दिन

सरस्वती पूजा और बसंत पंचमी की शुभकामनाएं

 

सर्दी को तुम दे दो विदाई, बसंत की अब ऋतु है आयी,

फूलों से खुशबू लेकर महकती हवा है आयी,

बागों में बहार है आयी, भंवरों की गुंजन है लायी,

उड़ रही है पतंग हवा में जैसे तितली यौवन में आयी,

देखो अब बसंत है आयी.

सरस्वती पूजा का यह प्यारा त्योहार,

जीवन में खुशी लाएगा अपार,

सरस्वती विराजे आपके द्वार,

शुभकामनाएं हमारी करें स्वीकार.

बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं !

 

जीवन का यह बसंत,

आप सबको खुशियां दे अनंत,

प्रेम और उत्साह का,

भर दे जीवन में रंग.

बसंत पंचमी की बधाई !

 

किताबों का साथ हो, पेन पर हाथ हो,

कॉपियां आपके पास हो, पढ़ाई दिन रात हो,

जिंदगी के हर इम्तिहान में आप पास हो,

सरस्वती पूजा की हार्दिक शुभकामनाएं !

 

फूलों की वर्षा, शरद की फुहार,

सूरज की किरणें, खुशियों की बहार,

चन्दन की खुशबू, अपनों का प्यार,

मुबारक हो आप सबको,बसंत पंचमी का त्योहार.

हैप्पी बसंत पंचमी 2022 !

 

विद्या दायिनी, हंस वाहिनी मां भगवती,

तेरे चरणों में झुकाते शीष हे देवी,

कृपा कर हे मैया दे अपना आशीष,