मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी: हरियाणा में हर विभाग को एक मरला या 30-30 गज के प्लॉट मिल गए हैं। इसके लिए लाभार्थी को एक-एक लाख रुपये देने की आवश्यकता होगी। दस हजार रुपये पहले ही जमा कर दिए गए हैं। आवंटन पत्र मिलने के एक महीने के भीतर 10 हजार रुपये जमा कराने होंगे।

हरियाणा के मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी ने कहा कि वे रोहतक की जमीन से हुड्डा को बताना चाहते हैं कि कांग्रेस की भर्ती रोके गैंग ने गरीबों के पांच अंक कटवाए हैं, लेकिन भाजपा सरकार गरीबों को मरने नहीं देगी। चाहे नया कानून बनाना पड़े या सुप्रीम कोर्ट में दोबारा जाना पड़े। मुख्यमंत्री ने बुधवार को एमडीयू के टैगोर सभागार में एक लाख आठ सौ से अधिक परिवारों को मुख्यमंत्री शहरी आवास योजना के तहत 30-30 गज के प्लाट देते समय लोगों को संबोधित किया।

नायब सैनी ने कहा कि सरकार ने गरीब लोगों को घर बनाने के लिए 30-30 गज के प्लाट देने कि योजना तैयार की थी। क्योंकि अपना घर अपना है। इसके लिए पहले गांवों को 100-100 गज के प्लाट दिए गए, फिर शहर में 30-30 गज के प्लाट दिए गए। उनका कहना था कि वे प्रदेश भर में जाकर कहते हैं कि कांग्रेस की भर्ती रोको गैंग ने ही गरीबों को पांच अंक दिए हैं, लेकिन आज रोहतक की जमीन पर खड़े होकर कहते हैं कि कांग्रेस चाहे जो भी करे, मैं गरीबों का हक नहीं खोने दूंगा।

चाहे नया कानून बनाना पड़े या सुप्रीम कोर्ट में दोबारा जाना पड़े। उनका कहना था कि कुछ लोगों को लगता है कि भाजपा की सरकार सिर्फ दो महीने की है, लेकिन याद रखें कि भाजपा तीसरी बार गरीबों के सहयोग से सरकार बनाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिकारी अपनी कार्यशैली को सुधार नहीं करता, इसलिए मुझे सुधारना होगा। अब भी शिकायतें हैं कि कुछ अधिकारी लोगों को परेशान कर रहे हैं।

यह जानकारी देना चाहता हूँ कि आम लोगों को कितनी सजा दी जाएगी, उतनी ही सजा उस अधिकारी को मिलेगी। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा से कहा कि उन्होंने अपने 10 साल के कार्यकाल में लगवाई गई भर्तियों पर श्वेत पत्र जारी करने की हिम्मत दिखाई देनी चाहिए। किसने कितनी नौकरी दी है, पता चलेगा। अब गरीब का बेटा मैरिट के आधार पर एचसीएस से लेकर तहसीलदार बन रहा है, जबकि पहले पर्ची व खर्च पर नौकरी मिलती थी।

भीड़ के बीच फरियादियों से शिकायत लेने लगे मुख्यमंत्री

कुछ लोग समारोह के बाद मुख्यमंत्री से शिकायत करने पहुंचे। एक महिला ने कहा कि उसने परिवार पहचान पत्र में अपनी आय को बढ़ा दिया। यह अब ठीक नहीं किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आप कल डीसी से मिलेंगे। आपका काम पूरा होगा। फिर फरियादियों की भीड़ लगी। मुख्यमंत्री ने बहुत देर तक जनता की शिकायतें सुनीं।

महिला ने प्लाट आवंटन पत्र लेकर पैरों को छूने लगी, मुख्यमंत्री ने झुक किया इंकार

मुख्यमंत्री ने रोहतक के दस लोगों को अपने हाथों से आबंटन पत्र दिए। इस दौरान, बहुत सी महिलाएं मुख्यमंत्री के पैर छूने के लिए आगे बढ़ी। तब मुख्यमंत्री नायब सैनी ने झुककर हाथ जोड़ते हुए उनको पैर छूने से रोका। मुख्यमंत्री ने अपने हाथों से तीस लोगों को प्लाटों के आबंटन पत्र दिए। निगम ने बाकी को टेबल लगाकर आंबटन पत्र बाँटे। उस समय भीड़ की जल्दबाजी ने व्यवस्था को खराब कर दिया।