सियोल, दक्षिण कोरिया : उत्तर कोरिया ने सोमवार को  लगातार कई मिसाइलें दागींं हैं।मिसाइल परीक्षण 2022 में उत्तर कोरिया का यह चौथा परमाणु परीक्षण था, जिसमें पिछले दो प्रक्षेपणों में “हाइपरसोनिक मिसाइलें” शामिल थीं।

दक्षिण कोरिया की सेना ने सोमवार को कहा कि, उत्तर कोरिया ने अपनी राजधानी प्योंगयांग के एक हवाई अड्डे से दो और एसआरबीएम लॉन्च किए, जो लगभग 380 किमी (236 मील) की अधिकतम ऊंचाई 42 किमी (26 मील) तक उड़ गए।

उत्तर कोरिया का कहना है कि, परीक्षण का उद्देश्य चुनिंदा रूप से निर्मित और तैनात की जा रही सामरिक निर्देशित मिसाइलों का मूल्यांकन करना और हथियार प्रणाली की सटीकता को सत्यापित करना था।”इसने “उत्पादन के तहत हथियार प्रणाली के संचालन की सटीकता, सुरक्षा और दक्षता की पुष्टि की।”

उत्तरी कोरिया ने बिना अन्तराल के प्रक्षेपणों के अमेरिका के आदेश का उल्लघंन किया और साथ ही संयुक्त राष्ट्र संघ की नीतियों को भी इससे धक्का लगा है, वहीं प्योंगयांग ने उत्तरी कोरिया के इस कदम की निंदा करते हुए मजबूत कार्रवाई की चेतावनी दी है‌।

उत्तर कोरिया के लिए अमेरिकी विशेष प्रतिनिधि सुंग किम ने प्योंगयांग से “अपनी गैरकानूनी और अस्थिर करने वाली गतिविधियों को बंद करने” और बातचीत को फिर से खोलने का आग्रह किया, यह कहते हुए कि वह “बिना किसी शर्त के” बैठक के लिए तैयार थे।

दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि वह उत्तर कोरिया के सभी मिसाइल प्रक्षेपणों को गंभीर खतरे के रूप में लेता है, लेकिन इसकी सेना उनका पता लगाने और उन्हें रोकने में सक्षम है।

संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने भी एक ब्रीफिंग के दौरान उत्तर के परीक्षणों की निन्दा की और हिदायत दी है। जानकारी देते हुए बता दें कि, इससे पहले उत्तर कोरिया ने 2017 में ह्वासोंग-12 इंटरमीडिएट-रेंज बैलिस्टिक मिसाइल (IRBM) का परीक्षण करने के लिए सुनन हवाई अड्डे का इस्तेमाल किया था, जिसमें किम जोंग उन भी उपस्थित थे।