देशभर में 26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस की तैयारी पूरे जोरों पर है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में गणतंत्र दिवस को लेकर कुछ विशेष कदम उठाए गए हैं. सुरक्षा के लिहाज से दिल्ली में कई कड़े प्रतिबंध लगा दिए गए हैं. इस क्रम में लाल किला को चार दिनों के लिए जनता के लिए बंद कर दिया गया है. दिल्ली पुलिस की मानें तो लाल किले को जनता के लिए बंद रखने का फैसला आम जन की सुरक्षा को देखकर लिया गया है. दिल्ली पुलिस ने इस संबंध में बताया गया कि 26 जनवरी पर गणतंत्र दिवस को देखते हुए लाल किला को जनता और आम आगंतुकों के लिए चार दिन 22 जनवरी से 26 जनवरी तक बंद रखने का निर्णय लिया गया है।

IND vs SA : विराट कोहली महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के इस रिकॉर्ड को तोड़कर बन गए नंबर वन

आपको बता दें कि इससे पहले राजधानी में कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते मामलों के देखते हुए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) ने सभी ऐतिहासिक स्मारकों को 20 जनवरी तक बंद कर दिया था. इन स्मारकों में लाल किला, कुतुब मीनार समेत सभी ऐतिहासिक स्मारकों को बंद करने का आदेश जारी किया गया था. यह बात सर्ववि​दित है कि 26 जनवरी के दिन ही प्रत्येक वर्ष राजपथ पर गणतंत्र दिवस की परेड का आयोजन किया जाता है. लेकिन इस बार गणतंत्र दिवस की परेड कार्यक्रम में थोड़ा बदलाव किया गया है. परेड इस बार का आयोजन निर्धारित समय से आधा घंटा देरी से शुरू होगी। वहीं 75 साल में पहली बार गणतंत्र दिवस परेड देरी से शुरू होगी.

R-Day: Red Fort to remain shut for visitors from Jan 22-26 | Business

गौरतलब है कि कोरोना प्रोटोकॉल और श्रृद्धांजलि सभा की वजह से गणतंत्र दिवस परेड इस साल शुरू होने में देरी होगी, पहले जम्मू-कश्मीर में जान गंवाने वाले सुरक्षाकर्मियों को श्रद्धांजलि दी जाएगी, इसके बाद परेड शुरू होगी। इस साल गणतंत्र दिवस के समारोह में भी कोई मुख्य अतिथि नहीं होगा, वहीं 51 साल के इतिहास में ऐसा दूसरी बार होगा जब गणतंत्र दिवस पर चीफ गेस्ट नहीं होंगे।