सीकर शहर में पक्षी प्रेम का एक मामला सामने आया है। आपको बता दें शहर के बड़े हॉट सर्जन डॉक्टर वी के जैन का तोता 3 पहले लापता हो गया था तब से इनकी पत्नी ने खाना पीना छोड़ दिया ।तोते को ढूंढने के लिए डॉक्टरों ने लाखों रुपए भी खर्च कर दिए यहां तक कि उन्होंने अखबार के फ्रंट पेज पर मिसिंग का विज्ञापन भी छपवाया साथ ही शहर में पोस्टर pempflt तथा सोशल मीडिया पर भी मैसेज वायरल किया सिर्फ इतना ही नहीं डॉक्टर ने तोता ढूढ़कर लाने वाले के लिए इनाम की भी घोषणा कर दी।

डॉ वीके जैन का कहना है कि जो भी हमें तोते को ढूंढ कर देता है हम उसे खुशी खुशी एक लाख रुपए दे देंगे आपको बता दें परिवार के लोग तथा अस्पताल के स्टाफ दिन रात तोता ढूंढने होने में लगा हुआ है वहीं डॉक्टर वी के जैन की पत्नी डॉक्टर अर्चना ने बताया कि अस्पताल के ऊपर ही इनका घर बना हुआ है 3 दिनों पहले जब छत पर वह तोते को सेब खिला रही थी तो उसी समय वह तोता उड़ गया और वापस नहीं आया और तब से ही हम तोते को ढूंढ रहे हैं लेकिन अभी तक हमें तोते के बारे में कोई भी जानकारी नहीं मिली है डॉक्टर जैन ने बताया कि यह तोता एक दुर्लभ प्रजाति का तोता था यह एक हजार से भी ज्यादा शब्द बोलता है और सभी से बात भी करता है इस तोते से कुछ भी पूछो तो वे उसका प्रॉपर जवाब देता है उसके जाने से घर का माहौल उदासीन हो गया है।

उनकी पत्नी बस रोते हुए उस तोते का इंतजार कर रही हैं आपको बता दें यह परिवार उस तोते के साथ में और यह तोता परिवार वालों के साथ में इतना ज्यादा घुलमिल गया था कि जब भी घर वाले खाना खाने को बैठते तो वह उनके ही साथ बैठ जाता था डॉक्टर ने बताया कि वह तोते को सिरिंज से जूस और दूध पिलाते थे। अस्पताल की मैनेजर आरती बताती हैं कि तोते के गुम होते ही पूरे स्टाफ ने उसे ढूंढना शुरू कर दिया था लेकिन अभी तक उसका कुछ भी पता नहीं चल पाया तोता अस्पताल के पूरे स्टाफ से भी बातें करता था ऐसे में अस्पताल का पूरा स्टाफ भी तोते से भावनात्मक रूप से जुड़ा हुआ था तोते के लापता होने के पोस्टकार्ड को आसपास के एरिया में भी बांटा जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक डॉक्टर जैन का पशु पक्षियों से खास लगाव था उनका झुंझुनू बाईपास पर फार्म हाउस है वहां उन्होंने कई पक्षी पाल रखे हैं जिसमें बत्तख तोते कबूतर खरगोश कुत्ता बिल्ली घोड़ा सहित कई पशु पक्षी शामिल है।