Swati Maliwal (स्वाति मालीवाल) Case News:

Swati Maliwal: मुख्यमंत्री के पीए बिभव कुमार के कथित थप्‍पड़ कांड के चलते, आम आदमी पार्टी के संस्थापक सदस्य स्वाति मालीवाल चर्चा में हैं। मालीवाल का दावा है कि बिभव ने उन्हें सीएम हाउस में थप्‍पड़ और लात-घूसों से पीटा। इसे लेकर लोकसभा चुनाव के बीच भी बहुत राजनीति हो रही है। इसलिए महत्वपूर्ण प्रश्न यह है कि क्या Swati Maliwal आम आदमी पार्टी छोड़ देंगे? एक इंटरव्यू में उन्‍होंने इस बारे में जानकारी दी।

Swati Maliwal ने स्पष्ट किया कि वह आम आदमी पार्टी को नहीं छोड़ेंगे क्योंकि यह पार्टी सिर्फ दो या तीन लोगों की नहीं है। सच बोलने से शायद मेरे और पार्टी के बीच संबंध सुधर सकते थे। इतनी बुरी तरह से पीटे जाने के बावजूद, मैंने इस बड़े निर्णय को देखते हुए खुद को शांत करने की कोशिश की। मुझे पता था कि इस मुद्दे का राजनीतिकरण किया जाएगा। मैंने आत्मनियंत्रण की कोशिश की। उन्होंने विक्टिम शेमिंग के माध्यम से पूरे महिला आंदोलन को नुकसान पहुंचाया है। पार्टी केवल दो या तीन लोगों की नहीं है, इसलिए मैंपार्टी में ही रहूंगी। इसमें मैंने अपना खून और पसीना भी बहाया है।”

अन्ना आंदोलन में मैं कोर कमेटी की सदस्‍य थी:

Swati Maliwal ने कहा कि दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने उनसे थप्‍पड़  कांड पर चर्चा की है। उन्‍होंने  कहा, “लेकिन, वो एक संवैधानिक पद पर हैं। उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या हुआ था और मुझे पुलिस से व्यवहार करने में कोई परेशानी हो रही है या नहीं।“मैंने 2006 में इंजीनियर के रूप में अपनी नौकरी छोड़ दी थी,” मालीवाल ने पहले एक अन्य इंटरव्‍यू में कहा था। फिर अरविंद केजरीवाल के साथ पूरा समय  वालंटियर के तौर पर काम किया। अन्ना हजारे आंदोलन की कोर कमेटी में भी मैं शामिल थी। मेरा खून और पसीना पार्टी की नींव में लगा है। मेरी कड़ी मेहनत और समर्पण ने मुझे सांसद बनाया। मैं स्पष्ट करना चाहता हूँ कि मेरी किसी से निजी दुश्मनी नहीं है। दिल्ली पुलिस जांच करेगी कि मुझ पर हमला किसके इशारे पर किया गया था और क्यों हुआ था।’