रेडियो का नाम सुनते ही हम सभी इसे कहीं ना कहीं एक ऐसी आवाज से जोड़ लेते हैं जो दिखाई तो नहीं देती लेकिन अपनी सी महसूस होती है, आज भी संचार के कई माध्यम होने के बावजूद रेडियो कई लोगों के जीवन में एक बहुत अहम हिस्सा माना जाता है।
और इसी अहमियत को देखते हुए हर साल आज के दिन रेडियो दिवस मनाया जाता है बात करें औपचारिक रूप से तो पहला विश्व रेडियो दिवस 2012 में मनाया गया था और दुनिया भर में सूचना के आदान-प्रदान और लोगों को शिक्षित करने में रेडियो ने अपनी एक अहम भूमिका निभाई है।

इस बार विश्व रेडियो दिवस के 2022 की थीम ‘रेडियो एंड ट्रस्ट’ (Radio and Trust) रखी गई है। विभिन्न अंतरराष्ट्रीय रिपोर्टों के अनुसार, रेडियो दुनिया में सबसे ज्यादा भरोसेमंद और सुलभ मीडिया में से एक माना जाता है और शायद इसीलिए इस बार की थीम भी ‘रेडियो और भरोसे’ के नाम से ली गई है।
बात करें रेडियो के इतिहास की तो स्पेन रेडियो अकैडमी ने 2010 में पहली बार रेडियो दिवस का प्रस्ताव रखा था. इसके बाद 2011 में यूनेस्को की महासभा के 36 सत्र में 13 फरवरी को विश्व रेडियो दिवस घोषित किया गया जिससे यूनेस्को की घोषणा को संयुक्त राष्ट्र की महासभा ने 14 जनवरी 2013 को मंजूरी दे दी थी और तब से हर साल 13 फरवरी को विश्व रेडियो दिवस मनाया जाता है।
आइए जानते हैं रेडियो दिवस से जुड़े कुछ रोचक तथ्यों के बारे में…
WLW (700kWz AM) रात के समय आधी दुनिया को कवर करने में सक्षम था। रेडियो के माध्यम से 1980 के दशक में रेडियो लिस्नर्स द्वारा कैसेट टेप रिकॉर्ड की जाते थे जिन्हें कंप्यूटर पर वापस चलाया जा सकता था।
एक रेडियो स्टेशन ने 2005 में रॉक अल्टीमेट सुपर ग्रुप बनाने के लिए 3,500 संगीत प्रेमियों को चुना जिसमें सर्वश्रेष्ठ संगीतकारों को उनके उपकरण के आधार पर चुना गया और इसके विजेता ‘लेड जैप्लिन’ रहे
28 सितंबर, 2006 को, रिक्जेविक की नगर परिषद आधे घंटे के लिए सभी शहर के रोशनी बंद करने पर सहमत हुए जबकि एक प्रसिद्ध खगोल विद ने राष्ट्रीय रेडियो पर नक्षत्र और सितारों के बारे में बात की थी।

ये भी पढ़ें : इस वैलेंटाइन डे पर जानें virtual dating पर safe, confident और controlled रहने के टिप्स

जापानी लोगों ने पहली बार रेडियो पर अपने अमर सम्राट की आवाज सुनी जब उन्होंने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जापान के आत्मसमर्पण की घोषणा की थी।
अगर बात करें समय अवधि की दूरियों किसी भी अन्य प्रकार के प्रसारण मीडिया की तुलना में सबसे ज्यादा समय तक रहा है इसका मतलब कि अन्य तकनीकों की तुलना में अधिक लोगों के पास इसकी पहुंचे हर साल विश्व रेडियो दिवस पर क्षेत्र के विशेषज्ञ आपस में जोड़ते हैं ताकि यह पता लगाया जा सके कि अलग-अलग समुदाय तक रेडियो कैसे बचाया जाए इस दिन का मुख्य उद्देश्य सुनिश्चित करता है कि हर कोई चाहे कितना भी केंद्रीय दोस्त हो ना हो सूचना तक उसकी पहुंच हो
समाचार सूचना मांगने प्राप्त करने के पैसे तो बहुत सारे तरीके हैं इसके लिए आप टेलीविजन इंटरनेट से भी सूचना प्राप्त कर सकते हैं लेकिन उसके लिए आपको भुगतान करना होता है रेडियो के साथ ऐसा बिल्कुल नहीं है आप अपनी कार में कैसे मैं यहां तक कि एक लिफ्ट में भी मुफ्त में रेडियो सुन सकते हैं विश्व रेडियो दिवस इस बात को पूरी तरह से सुनिश्चित करता है कि कवरेज सर्वोत्तम गुणवत्ता प्रोग्रामिंग के साथ जारी रहे