उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव ( UP Assembly Election 2022 ) से पहले सियासी घमासान मचा हुआ है. राजनीतिक दल जहां एक के बाद एक अपने उम्मीदवारों की सूची जारी कर रहे हैं, वहीं नेता भी अपने सियासी गणित के हिसाब से एक दूसरे दलों में छलांग लगा रहे हैं. इस क्रम में आज यानी बुधवार को पहले चरण के मतदान से महज तीन हफ्ते पहले मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव (
Mulayam Singh’s daughter-in-law Aparna Yadav joins BJP ) ने भारतीय जनता पार्टी जॉइन कर ली. अपर्णा ने पार्टी मुख्यालय में बीजेपी उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य समेत कई बड़े नेताओं की मौजूदगी में बीजेपी की सदस्यता ली.

 बांग्लादेशी अभिनेत्री की हत्‍या में पति ने खोले राज, कहा, मैं भी इस हत्‍याकांकड में शामिल

बीजेपी नेता केशव प्रसाद मौर्य ने भी अपर्णा का स्वागत किया

वहीं, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र ​देव सिंह ने अपर्णा यादव का बीजेपी में स्वागत करते हुए कहा कि मुलायम सिंह यादव की बहू बीजेपी में शामिल हो रही हैं और वह पार्टी को मजबूत करने का काम करेंगी. इस दौरान उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम और बीजेपी नेता केशव प्रसाद मौर्य ने भी अपर्णा का स्वागत किया. उन्होंने कहा कि अपर्णा के आने से उत्तर प्रदेश में भाजपा को मजबूती मिलेगी. मौर्य ने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव पर निशाना साधना भी नहीं भूले. उन्होंने कहा कि अखिलेश सीएम और एक सांसद के तौर पर भी परिवार चलाने में सफल नहीं रहे.

 एलोवेरा को इन तरीको से करेंगे इस्तेमाल तो जल्दी घटेगा वजन

अखिलेश यादव को चुनौती

मौर्य ने कहा कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी की ओर से जारी की गई पहली सूची में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और मेरे नाम की घोषणा हो चुकी है. अखिलेश यादव जो हमेशा बीजेपी सरकार में किए कामों का श्रेय लेने की होड़ में जुटे रहे, उनकी हिम्मत यूपी की किसी सीट से चुनाव लड़ने की नहीं है.