राज्यउत्तराखण्ड

Uttarkashi Tunnel Rescue: बाबा बौखनाग ने कर्मचारियों की सफल बचाव की खुशी में सीएम आवास पर ‘इगास बग्वाल’ मनाया

Uttarkashi Tunnel Rescue

Uttarkashi Tunnel Rescue: उत्तराखंड में सिलक्यारा सुरंग में फंसे 41 कर्मचारियों को बचाने के सफल प्रयास से देश भर में उत्साह है। कल से श्रमिकों के गांवों में पटाखे फोड़े जा रहे हैं और उत्सव मनाया जा रहा है। ये हादसा दिवाली के दिन हुआ था और तब से श्रमिक टनल में फंसे हुए थे। आज शाम देहरादून में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के आवास पर श्रमिकों के सुरक्षित बाहर आने की खुशी में ‘इगास बग्वाल’ मनाया जाएगा।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा, “यह रेस्क्यू ऑपरेशन बहुत चुनौतीपूर्ण और कठिन था। मैं सभी को धन्यवाद देता हूँ जो इसमें योगदान दिया। बाबा बौखनाग की कृपा से यह प्रयास सफल हुआ। हिमालय हमें अडिग रहना और आगे बढ़ना सिखाता है। जय बाबा बौखनाग. सभी भक्तों पर बाबा की कृपादृष्टि बनी रहे।मुख्यमंत्री ने सुरंग बचाव में ITBP के जवानों से भी मुलाकात की।

‘इगास बग्वाल’ क्या है? 

Uttarkashi Tunnel Rescue: उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में बग्वाल दिवाली के ठीक ग्यारह दिन बाद इगास मनाया जाता है। मान्यता है कि भगवान राम के अयोध्या लौटने की खबर पहाड़ों में पहुंचने में ग्यारह दिन लगे। यही कारण है कि दिवाली के ग्यारह दिन बाद इगास बग्वाल मनाया जाता है।

राज्य सरकार श्रमिकों को देगी एक-एक लाख

सिलक्यारा सुरंग से 17वें दिन मंगलवार को निकाले गए 41 कर्मचारियों को चिन्यालीसौड़ में डॉक्टरों की निगरानी में 48 घंटे तक रहेंगे। तब उन्हें अपने परिवार से मिलने दिया जाएगा। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि कर्मचारियों को स्वस्थ होने पर सरकार एक लाख रुपये के चेक देगी।

इलाज और घर जाने तक की पूरी व्यवस्था की जाएगी

मुख्यमंत्री ने एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, आईटीबीपी, बीआरओ और अंतरराष्ट्रीय टनलिंग विशेषज्ञ अर्नोल्ड डिक्स और उनकी टीम को धन्यवाद दिया, जो इस कठिन बचाव अभियान में 17 दिनों तक दिन-रात काम किया। धामी ने कहा कि सरकार सिलक्यारा सुरंग में फंसे हर कर्मचारी को एक लाख रुपये देगी। अधिकारियों को इसके लिए निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा, घर जाने तक और अस्पताल में इलाज के दौरान पूरी व्यवस्था की जाएगी।

UTTARAKHAND NEWS: देहरादून में दो शव बरामद, हत्या है या हादसा नहीं हुआ खुलासा

बौखनाग देवता का भव्य मंदिर बनेगा

Uttarkashi Tunnel Rescue: CM Dhammi ने कहा कि बाबा बौखनाग और देवभूमि के देवी-देवताओं की कृपा से प्रक्रिया सफल हुई है। सिलक्यारा में बौखनाग देवता का सुंदर मंदिर बनाया जाएगा। इसके लिए अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी कर्मचारी बाबा बौखनाग के आशीर्वाद से सुरक्षित निकल गए हैं। ग्रामीणों ने बाबा बौखनाग के मंदिर बनाने की मांग उठाई है, उन्होंने कहा। सरकार इस मांग को पूरा करेगी।

फेसबुक और ट्विटर पर हमसे जुड़ें और अपडेट प्राप्त करें:

facebook-https://www.facebook.com/newz24india

twitter-https://twitter.com/newz24indiaoffc

Related Articles

Back to top button
Share This
इन Bollywood Stars ने अपनी शादी में पहना पेस्टल रंग का जोड़ा Monalisa के 10 हॉट क्रॉप टॉप्स A अक्षर वेले व्यक्तियों का स्वभाव कैसा होता है? बिल्ली से जुड़े ये 5 संकेत अशुभ माने जाते हैं बॉलीवुड की बेबो के 10 हॉट साड़ी लुक
इन Bollywood Stars ने अपनी शादी में पहना पेस्टल रंग का जोड़ा Monalisa के 10 हॉट क्रॉप टॉप्स A अक्षर वेले व्यक्तियों का स्वभाव कैसा होता है? बिल्ली से जुड़े ये 5 संकेत अशुभ माने जाते हैं बॉलीवुड की बेबो के 10 हॉट साड़ी लुक