राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली समेत समूचे उत्तर भारत में मौसम के कई रूप देखने को मिल रहे हैं. नॉर्थ इंडिया में पड़ रही कड़ाके की ठंड के साथ रूक-रूक हो रही बारिश ने तापमान में और गिरावट ला दी है. हालांकि पिछले दो-तीन दिनों से निकल रही धूप ने लोगों को सर्दी से राहत जरूर दी है. लेकिन एक बार फिर मौसम बिगड़ने की संभावना जताई जा रही है. इस बीच दिल्ली और उत्तर भारत में मौसम एक बार फिर करवट लेने वाला है.

इन इलाकों में तेज बारिश की संभावना

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार एक प्रेरित चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र पश्चिमी राजस्थान और आसपास के क्षेत्र पर बना हुआ है. जिसकी वजह से तेज बारिश की संभावना बनी हुई है. मौसम विभाग के अनुसार साउथ दिल्ली के कुछ इलाकों जैसे सीमापुरी, कश्मीरी गेट, जीव चौक, आईटीओ, पश्चिम विहार, लोधी रोड, पीतमपुरा, शाहदरा, पटेल नगर, लाल किला और पंजाबी बाग में गरजन के साथ बारिश होने की संभावना है. हालांकि वैज्ञानिकों ने बारिश और तेज हवाओं की वजह से दिल्ली NCR की हवा की गुणवत्ता में सुधार होने की संभावना जताई है. इस बीच, राष्ट्रीय राजधानी के निवासियों ने प्रदूषित हवा में सांस लेना जारी रखा, क्योंकि दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) पीएम 10 के लिए 211 और पीएम 2.5 के लिए 104 था.

एनसीआर के गुरुग्राम में भी बारिश की संभावना

वहीं, राजधानी दिल्ली एनसीआर के गुरुग्राम में भी बारिश की संभावना जताई गई है. बुधवार यानी 9 फरवरी को ये और बढ़ सकती हैं. मौसम विभाग से जुड़े वैज्ञानिकों ने जानकारी देते हुए बताया कि जम्मू, कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में बुधवार को बारिश हो सकती है. जबकि पहाड़ी क्षेत्र में बर्फबारी की संभावना बनी हुई है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, दिन चढ़ने के साथ अधिकतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है. सफदरजंग वेधशाला में आज सुबह न्यूनतम तापमान 11.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.