बेंगलुरु विश्वविद्यालय में छात्रों के मूल्यांकन प्रक्रिया में त्रुटि होने के बाद विश्वविद्यालय की प्रतिष्ठा पर सवाल उठ रहे हैं । हाल ही में बी कॉम के रिज़ल्ट आने के बाद पता चला कि कई छात्रों को आवंटित अंकों से अधिक अंक मिले है ।

बैंगलुरू यूनिवर्सिटी में सोमवार को बी कॉम की उत्तरपुस्तिकाओं के मूल्यांकन में गड़बड़ी का विवाद सामने आया। एक छात्र ने 70 में से 89 अंक प्राप्त किए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एक छात्र ने कहा “मेरे कुछ दोस्तों ने 89 ,73, 75 अंक हासिल किए हैं और यह मूल्यांकन की गुणवत्ता को दर्शाता है”। पर्यटन एजेंसी और टूर ऑपरेटर संगठन के विषय के मूल्यांकन मे यह गड़बड़ी देखने को मिली है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार 500 से अधिक छात्रों ने इस विषय को चुना था। परीक्षा अगस्त 2021 में आयोजित की गई थी। इससे पहले परीक्षा 100 अंकों के लिए आयोजित की जाती थी। नये सिलेबस और मार्क्स पैटर्न में बदलाव के चलते छात्रों को केवल 70 अंकों के उत्तर देने थे। हालांकि, विश्वविद्यालय के अधिकारी ने छात्रों पर दोष मढ़ दिया और कहा कि उन्हें प्रश्न पत्र पर दिए गए निर्देशों को पढ़ना चाहिए था। अधिकारियों ने तर्क दिया कि परीक्षा 2004 और 2013 के बीच अध्ययन करने वाले और फ्रेशर्स दोनों उम्मीदवारों के लिए आयोजित की गई थी। एक अधिकारी ने स्पष्ट किया, “फ्रेशर्स को 70 अंकों के लिए लिखना था और पुराने उम्मीदवारों को 100 अंकों का प्रयास करना था।”

सूत्रों के अनुसार रजिस्ट्रार (मूल्यांकन ) प्रोफेसर जे डी देवराजू के अनुसार परिणाम वापस ले लिया गया है और जल्द ही नया परिणाम घोषित किया जाएगा। लगभग 15 छात्र ऐसे हैं जिन्होंने 70 से अधिक अंक प्राप्त किए हैं। अंकों को फिर से सारणीबद्ध किया जाएगा और नए परिणाम घोषित किए जाएंगे।