देश में मौसम का तापमान जितना गिरा हुआ है, उत्तर प्रदेश का सियासी पारा उतना ही चढ़ा हुआ है. चढ़े भी क्यों ना? आने वाले कुछ दिनों में यूपी में विधानसभा चुनाव होने हैं. चुनाव से पहले अपनी हार-जीत का गणित लगाने में जुटे नेता एक के बाद एक पाला बदलने में जुटे हैं. इस क्रम में बीेजेपी छोड़कर समाजवादी पार्टी मे शामिल होने वालों का सिलसिला जारी है. आज यानी रविवार को बीजेपी की योगी सरकार में मंत्री रहे दारा सिंह चौहान ने भी सपा का दामन थाम लिया है.

समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की

दारा सिंह चौहान ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव की उपस्थिति में समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. दारा सिंह चौहान ने कई दिन पहले ही बीजेपी से इस्तीफा दे दिया था. इस दौरान उन्होंने समाजवादी पार्टी जॉइन करने का संकेत दिया था. जिसके बाद दारा सिंह ने आज सपा मुखिया की उपस्थिति में पार्टी की मेंबरशिप ले ली. राजनीतिक जानकारों की मानें तो ​अखिलेश यादव दारा सिंह चौहान को पूर्वांचल में साइकिल की रफ्तार यानी समाजवादी पार्टी को मजबूत करने की जिम्मेदारी सौंप सकते हैं.

भारतीय जनता पार्टी पर जमकर निशाना साधा.

सपा में शामिल होने के दौरान दारा सिंह चौहान ने भारतीय जनता पार्टी पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा 2017 में जब यूपी में बीजेपी की सरकार आई थी, तब उन्होंने ‘सबका साथ सबका विकास’ का नारा दिया था, लेकिन बीजेपी सरकार में विकास चंद लोगों का ही हुआ. जबकि बाकि लोगों को उनके हाल पर ही छोड़ दिया गया. आपको बता दें कि इससे पहले यूपी की राजनीति में बड़ा दखल रखने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य ने बीजेपी को अलविदा कह दिया था. मौर्य बीजेपी के कई विधायकों के सपा में शामिल हो गए हैं.