उत्तर प्रदेश में एक ओर जहां विधानसभा चुनाव ( UP Assembly Election 2022 ) का बिगुल फुंकने से सियासी पारा चढ़ा हुआ है, वहीं मुलायम सिंह ( Mulayam Singh Yadav ) की छोटी बहू के भारतीय जनता पार्टी ( BP ) में शामिल होने की अटकलों ने यूपी की राजनीति में भूचाल ला दिया है. पिछला विधानसभा चुनाव 2017 लखनऊ की कैंट सीट से लड़ चुकी अर्पणा यादव ( Aparna Yadav )  बीजेपी के उम्मीदवार रीता बहुगुणा जोशी से हार गईं थीं. हालांकि वह 63 हजार वाट पाकर दूसरी स्थान पर रहीं थीं. आपको बता दें कि अर्पणा यादव मुलायम सिंह की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता के बेटे प्रतीक यादव की पत्नी हैं. अर्पणा यादव हमेशा अपने बयानों और सियासी गतिविधियों को लेकर चर्चा में बनी रहती हैं.

कई दिग्गज नेता होंगे बीजेपी में शामिल 

गौरतलब है कि रविवार को केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर और उत्तर प्रदेश भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की उपस्थिति में कई दिग्गज नेता बीजेपी में शामिल होंगे. अटकलें लगाई जा रही हैं कि इस दौरान अपर्णा यादव भी भाजपा में शामिल होंगी. यह बात किसी से छिपी नहीं है कि मुलायम सिंह यादव और समाजवादी पार्टी की छोटी बहू अपर्णा यादव हमेशा से ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करती रहीं हैं. यही नहीं उन्होंने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 11 लाख 11 हजार का चंदा भी दिया था. इस दौरान उन्होंने दत्तात्रेय होसबले के राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह बनाए जाने पर सोशल मीडिया उनके साथ अपनी फोटो भी शेयर की थी.

‘मैं संत-महात्माओं का बड़ा सम्मान करती हूं’

एक न्यूज चैनल के साथ बातचीत में अर्पणा यादव ने सीएम योगी आदित्यनाथ को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में बताया कि मैं बस इतना कहना चाहूंगी कि वह योगी हैं, मेरे परिवार के संस्कार रहे हैं कि मैं संत-महात्माओं का बड़ा सम्मान करती हूं, इसलिए मैं महाराजजी का बहुत सम्मान करती हूं. अर्पणा यादव यहीं नहीं रुकी, उन्होंने आगे कहा कि मैं योगी आदित्यनाथ का यूपी का मुख्यमंत्री बनने से पहले से सम्मान करती आई हूं. उस समय तक तो मैं यह भी नहीं जानती थी कि वह मुख्यमंत्री बन जाएंगे.