1. देश में संसद का बजट सत्र आज 31 जनवरी, सोमवार से शुरू हो गया है। इस बजट की शुरुआत देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath kovind) के अभिभाषण से हुई। राष्ट्रपति (President Ramnath kovind) ने अपने अभिभाषण के दौरान बताया कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत सरकार ने हमेशा 80% छोटे किसानों को ही प्राथमिकता दी है। और इस PM किसान योजना से देश के किसानों के 11 करोड़ से अधिक परिवार लाभान्वित भी हुए हैं।

इस योजना के तहत देश के छोटे और सीमांत किसानों को 2-2 हजार रुपए की कुल तीन किस्तें, साल में 6000 रुपए दी जाती हैं। साल 2019 में देश के किसानों को आर्थिक मदद देने के लिए इस योजना की शुरुआत की गई थी।
साल की शुरुआत में यानी (फरवरी, 2019) में जब PM-किसान योजना शुरू की गई तब इसका लाभ सिर्फ़ देश के छोटे और सीमांत किसानों और उनके परिवारों के लिए था। इसमें वो ही किसान शामिल थे जिनके पास 2 हेक्टेयर तक की कम्बाइन्ड लैंड होल्डिंग (संयुक्त भूमि) थी। लेकिन जून 2019 में स्कीम को रिवाइज (rewise) किया गया और सभी किसान परिवारों के लिए इसे एक्सटेंड (extend) कर दिया गया। हालांकि, देश के कुछ किसानों को अभी भी योजना से बाहर ही रखा गया है।
अपको बता दे की इस
PM किसान योजना से बाहर किए गए लोगों में मुख्यता संस्थागत भूमि धारक, संवैधानिक पदों पर बैठे किसान परिवार, राज्य या केंद्र सरकार के सेवारत या रिटायर्ड अधिकारी (Ex officer) और कर्मचारी हैं। इसमें सार्वजनिक क्षेत्र (public sector) के उपक्रम और सरकारी स्वायत्त निकाय के अधिकारी-कर्मचारी भी शामिल किए गए हैं। इन लोगो के अलावा डॉक्टर, इंजीनियर और वकील जैसे प्रोफेशनल्स के साथ-साथ 10,000 रुपए से ज्यादा की मासिक पेंशन वाले रिटायर्ड पेंशनर्स और पिछले असेसमेंट ईयर (Assistement year) में इनकम टैक्स भरने वालों को भी इस योजना से बाहर ही रखा गया है।

इस योजना के लिए लाभार्थी कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) से अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। इसके अलावा स्थानीय पटवारी, राजस्व अधिकारी और योजना के लिए राज्य सरकार की ओर से नामित नोडल अधिकारी भी किसानों का रजिस्ट्रेशन कर रहे हैं। इसके अलावा आप खुद अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।

ये है प्रोसेस –

1- PM किसान सम्मान निधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर जाएं।
2- किसान corner पर जाएं और ‘न्यू रजिस्ट्रेशन’ (new registration) ऑप्शन पर क्लिक करें।
4–ग्रामीण किसान हैं या शहरी किसान है, इसका चयन करें।
5-अपना आधार नंबर, मोबाइल नंबर डालें और वहीं राज्य का चयन करें।
6– ‘कैप्चा’ को वेरिफाई करें और send OTP बटन पर क्लिक करें।
7–अपने आधार से जुड़े नंबर पर आए OTP को दर्ज करें।
8–OTP वेरिफिकेशन के बाद, अपनी पात्रता साबित करने के लिए मांगे गए डॉक्यूमेंट अपलोड करें …
इस प्रकार आप खुद भी रजिस्ट्रेशन करा सकते है