चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही है केंद्र सरकार ने ईडी को पंजाब सरकार पर नजर रखने के लिए कहा है। वहीं आज बुधवार को चरणजीत सिंह चन्नी ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि जब वापस लौट रही थी तो उसने कहा था पीएम मोदी के दौरे को याद रखना लेकिन अब खबर आ रही है कि मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के रिश्तेदार भूपेंद्र सिंह उर्फ हनी और उसके सहयोगियों के यहां मारे गए छापों के दौरान प्रवर्तन निदेशालय ने भारी मात्रा में कीमती सामान और नकदी बरामद किए हैं।

ईडी ने मोहाली, लुधियाना और फतेहगढ़ साहिब में दबिश दी थी। बताया गया है कि इस छापेमारी में ईडी को करीब 10 करोड़ से ज्यादा की नकदी मिली है और इसके अलावा 21 लाख रुपए से अधिक का सोना और 12 लाख रुपए की रोलेक्स की घड़ी समेत कई महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद किए हैं।

ईडी के एक आला अधिकारी ने बताया की अवैध बालू खनन मामले में पिंजौर रॉयल्टी कंपनी और उसके साझेदारों शेयर धारकों जिनमें कुदरत दीप सिंह, कवर महीप सिंह, मनप्रीत सिंह, सुनील कुमार, भूपिंदर सिंह हनी, संदीप कुमार और अन्य लोगों के ठिकानों पर छापेमारी की थी।

फिलहाल हनी और उसके सहयोगियो से इस पैसे की बाबत पूछताछ जारी है। वहीं पंजाब पुलिस की एफआईआर में कहा गया था कि खनन विभाग नागरिक प्रशासन एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों की एक संयुक्त टीम ने 7 मार्च 2018 को अवैध बालू खनन के संबंध में आ रही शिकायतों को देखते हुए औचक निरीक्षण किया इस निरीक्षण के दौरान यह पाया गया कि कई मशीनों द्वारा कई खदानों की खुदाई की जा रही थी और खनन उस क्षेत्र में नहीं किया जा रहा था जहां का लाइसेंस प्राप्त था।

बहरहाल पंजाब मे हुई ईडी रेड के बाद सियासत में हलचल मच गई है पंजाब के सीएम चरणोजीत सिंह चन्नी ने कहा, ‘पश्चिम बंगाल में जब चुनाव हुए थे तो ऐसे ही रेड हुई थी।ईडी की रेड करवा कर दबाव बनाया जा रहा है। अब जब चुनाव आ गए हैं तो इनको ईडी की रेड याद आ गई है। ये सब दबाव हम झेलने के लिए तैयार हैं।