चंडीगढ़ : पंजाब विधानसभा चुनाव नजदीक आते जा रहे हैं। इस बीच पंजाब के वर्तमान मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी ने ईडी की छापेमारी को लेकर बड़ा आरोप लगाया है चन्नी ने कहा ईडी छापेमारी करके वापस जा रही थी तो उन्होंने मुझसे कहा कि, पीएम के दौरे को याद रखना

 

चन्नी के इस बयान से पंजाब की सियासत में एक नया मोड़ आ गया है जहां सभी दल विधानसभा चुनाव में अपने मंसूबों को आजमाना चाहते हैं वही चरणजीत चन्नी ने एक नया दांव खेला है। सीएम चन्नी का कहना है कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरा रद्द होने से प्रधानमंत्री ने सरकारी एजेंसियों को पंजाब सरकार के कामकाज की खोजबीन में लगा दिया है।चन्नी ने प्रधानमंत्री पर आरोप लगाते हुए कहा कि खाली कुर्सियों का गुस्सा निकालते हुए प्रधानमंत्री ने सभी एजेंसियों को पंजाब सरकार के विरुद्ध खड़ा कर दिया है और केजरीवाल सरकार ने इनसे मिली हुई है यह नहीं चाहते कि मैं यह चुनाव लड़ सकूं। मुझे ऐसे में पंजाब के लोगों की जरूरत है। मैं पंजाब के साथ खड़ा हुआ, आज मुझे पंजाब के लोगों से अपने समर्थन की जरूरत है। चन्नी ने ईडी पर आरोप लगाते हुए आगे कहा कि, मेरे पूर्वजों ने चमकौर साहिब की धरती पर मुगलों के ज़ुल्म सहे, मैं इनके ज़ुल्म सहूंगा चाहे वो मेरी जान ले लें।

पंजाब के सीएम ने कहा कि मैं किसानों पर लाठियां नहीं चला सकता। मैंने घटना पर खेद भी प्रकट कर चुका हूं शायरी भी सुना चुका हूं। जहां भी जीतने वाले नहीं होते केंद्रीय एजेंसियों को पीछे लगा देते हैं। चन्नी ने कहा, इलेक्शन पर प्रभाव डालने के लिए ये कार्यवाही हो रही है। ज्यादा जानकारी देते हुए बता दें कि पंजाब में विधानसभा चुनाव और 14 फरवरी की जगह 20 फरवरी को होने हैं।  सीएम चरणजीत सिंह चन्नी की प्रेस कॉन्फ्रेंस में डिप्टी सीएम सुखजिंदर सिंह रंधावा और कई कैबिनेट मंत्री भी मौजूद थे।