Shri Ramvichar Netam: लरामपुर जिले के शंकरगढ़ में ’’संपूर्णता अभियान’’ की शुरूआत करते हुए आदिम जाति विकास मंत्री श्री रामविचार नेताम ने कहा कि अभियान के तहत शंकरगढ़ क्षेत्र और यहां की जनता के चहुंमुखी विकास का मार्ग प्रशस्त होगा।

Shri Ramvichar Netam: अधोसंरचनाओं के निर्माण, आर्थिक गतिविधियों का उन्मुखीकरण और विभिन्न विकास कार्यों के माध्यम से समाज की उन्नति के लिए विभिन्न योजनाओं का क्रियान्वयन किया जाएगा।

मंत्री श्री नेताम ने बताया कि देशभर के चिन्हित 100 आकांक्षी विकासखण्डों का चयन अभियान के तहत किया गया है, जहां शासन की विभिन्न योजनाओं का क्रियान्वयन विभागों के समन्वय से किया जाएगा। आगामी तीन महीने में अभियान का क्रियान्वयन शुरू हो जाएगा और बिजली, पेयजल, शौचालय, प्रधानमंत्री आवास सहित अन्य कई योजनाओं का लाभ क्षेत्र के नागरिकों को मिलने लगेगा। महिलाओं को आर्थिक गतिविधियों से जोड़कर उन्हें स्वावलंबी बनाया जाएगा। कार्यक्रम में सरगुजा सांसद श्री चिंतामणि महाराज और सामरी विधायक श्रीमती उद्धेश्वरी पैकरा विशेष रूप से उपस्थित थे।

कार्यक्रम में उपस्थित सरगुजा सांसद श्री चिंतामणि महाराज ने आकांक्षी ब्लॉक परियोजना के तहत् सम्पूर्णता अभियान के शुभारंभ होने पर उपस्थित लोगों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि आकांक्षी ब्लॉक के संपूर्णता अभियान के सभी मानकों को सभी की सहभागिता से पूर्ण किया जाना है। इस अभियान के तहत् महिलाओं में आर्थिक संबलता और बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया करायी जाएगी।

सामरी विधायक श्रीमती उद्धेश्वरी पैकरा ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। इस अवसर पर जिले के कलेक्टर श्री रिमिजियुस एक्का तथा पुलिस अधीक्षक डॉ. लाल उमेद सिंह, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्रीमती रेना जमील तथा क्षेत्र के जनप्रतिनिधि व गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

क्या है आकांक्षी विकासखण्ड के सूचकांक

ज्ञातव्य है कि आकांक्षी विकासखण्ड, वे विकासखण्ड हैं जो खराब सामाजिक आर्थिक संकेतकों से प्रभावित हैं। ऐसे क्षेत्रों के विकास के लिए नीति आयोग द्वारा 04 जुलाई से 30 सितंबर 2024 तक 03 महीने का ‘‘संपूर्णता अभियान‘‘ आरंभ किया गया है, जिसका उद्देश्य देश भर के आकांक्षी जिलों और आकांक्षी ब्लॉकों में 06 प्रमुख संकेतकों की परिपूर्णता अर्जित करने के लिए निरंतर प्रयास करना है। इस ‘‘सम्पूर्णता अभियान‘‘ के तहत देश के सभी आकांक्षी ब्लॉकों में 06 चिन्हित केपीआई पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा। इसके अंतर्गत पहली त्रैमासिक अवधि के दौरान प्रसवपूर्व देखभाल (एएनसी) के लिए पंजीकृत गर्भवती महिलाओं का प्रतिशत, ब्लॉक में लक्षित जनसंख्या के मुकाबले मधुमेह की जांच कराने वाले व्यक्तियों का प्रतिशत, ब्लॉक में लक्षित जनसंख्या के मुकाबले उच्च रक्तचाप के लिए जांचे गए व्यक्तियों का प्रतिशत, आईसीडीएस कार्यक्रम के अंतर्गत नियमित रूप से पूरक पोषण लेने वाली गर्भवती महिलाओं का प्रतिशत, मृदा नमूना संग्रहण लक्ष्य के मुकाबले सृजित मृदा स्वास्थ्य कार्डों का प्रतिशत तथा ब्लॉक में कुल स्वयं सहायता समूहों के मुकाबले रिवाल्विंग फंड प्राप्त करने वाले स्व-सहायता समूहों का प्रतिशत शामिल है।

मंत्री ने दिलाई सहभागिता की शपथ

आकांक्षी विकासखण्डों को विकास की मुख्यधारा में शामिल करने के लिए प्रारंभ की गई संपूर्णता अभियान के तहत बलरामपुर जिले के शंकरगढ़ विकासखण्ड में अभियान की शुरूआत के दौरान आदिम जाति कल्याण व कृषि मंत्री श्री रामविचार नेताम ने उपस्थित अतिथियों, गणमान्य नागरिकों, अधिकारी-कर्मचारियों, स्कूली बच्चों सहित आमनागरिकों को संपूर्णता अभियान को सफल बनाने के लिए सहभागिता निभाने और अभियान को सफल बनाने की शपथ दिलाई।

मशाल जलाकर मशाल यात्रा का किया गया शुभारंभ

मंत्री श्री नेताम व उपस्थित अतिथियों ने मशाल जलाकर कलेक्टर को सौंपा। मशाल का उद्देश्य समुदाय के बीच जागरूकता लाना और लोगों को अभियान में सक्रिय रूप से भाग लेने के लिए प्रेरित करना है। यह मशाल संपूर्णता अभियान कि शुरूआत को एक नई उर्जा और उत्साह प्रदान करेगा। जिससे ग्रामीण समुदाय के लोग जागरूकता के साथ-साथ समग्र विकास के मुख्य धारा से जुड़ पायेंगे।

विभिन्न विभागों ने लगाया आकर्षक स्टॉल

कार्यक्रम में स्वास्थ्य, महिला बाल विकास, ग्रामीण एवं पंचायत, शिक्षा, मछली पालन, उद्यान, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, कृषि, वन, आदिवासी तथा एनआरएलएम विभाग द्वारा शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं की जानकारी प्रदान करने स्टॉल भी लगाया गया था। जिसका अवलोकन कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों द्वारा किया गया। इस दौरान स्टॉल में विभिन्न योजनाओं के तहत् हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया।

Source: https://dprcg.gov.in/