UP Monsoon Update: सोमवार को प्री-मानसून बारिश से यूपी के कई हिस्सों में गर्मी से कुछ राहत मिली है। बिजनौर, हापुड़ और गोरखपुर में आकाशीय बिजली गिरने से मौत हो गई है।

UP Monsoon Update: फिलहाल, मानसून राज्य की दक्षिणी सीमा सोनभद्र के करीब आ गया है। उत्तरी सीमा की ओर रुख होते ही राज्य में मानसून दो या तीन दिन में आने की संभावना है।

बारिश ने कई दिनों से भारी उमस से परेशान पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों को राहत दी। बिजनौर में बारिश के साथ बिजली गिरने से तीन बाइक सवार घायल हो गए। दो लोग गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती हुए थे और एक की मौत हो गई। हापुड़ में आकाशीय बिजली गिरने से एक परिवार के तीन लोग झुलस गए, जिसमें एक बच्चे की मौत हो गई। इसके अलावा बारिश ने सिकंदराबाद, मुजफ्फरनगर, बागपत और बुलंदशहर के खुर्जा में तापमान को कम किया। मेरठ में पूरे दिन उमस ने लोगों को बेहाल कर दिया।

सोमवार को भी गोरखपुर-बस्ती मंडल में धूप और बदली का क्रम जारी रहा। गोरखपुर और सिद्धार्थनगर में कुछ स्थानों पर बारिश हुई। दोपहर बाद संतकबीरनगर में आधा घंटे से अधिक बारिश हुई। दोनों मंडलों में सबसे अधिक तापमान 38 से 40 डिग्री सेल्सियस था। बांसगांव थाना क्षेत्र में एक व्यक्ति की बिजली गिरने से मौत हो गई।

प्रयागराज में दिन भर बहुत धूप थी। उमस ने लोगों को निराश कर दिया। सोमवार को सबसे अधिक 39.8 डिग्री सेल्सियस था। रविवार रात तापमान 26.8 डिग्री था। मौसम वैज्ञानिकों का अनुमान है कि कल हल्की बारिश और बादल छा सकते हैं।

बारिश से तापमान में गिरावट

सोमवार को राज्य में कई स्थानों पर बारिश हुई। वाराणसी में सबसे अधिक 13 मिलीमीटर वर्षा हुई। लखनऊ, झांसी, फुरसतगंज, कानपुर, बहराइच, हरदोई, बरेली, मेरठ, गोरखपुर और आगरा में भी वर्षा हुई है। बारिश से तापमान दो से तीन डिग्री गिर गया है। लखनऊ सहित दस जिलों में तापमान 40-42 डिग्री सेल्सियस था। अन्य जगहों पर दिन का तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से कम था।

मानसून दो दिनों में राज्य में आ जाएगा

लखनऊ मौसम विभाग का कहना है कि मानसून के अगले दो या तीन दिनों में उत्तर प्रदेश में दाखिल होने की परिस्थितियां अनुकूल बनी हुई हैं। इसलिए, मंगलवार से पूर्वी उत्तर प्रदेश में अच्छी बारिश हो सकती है, जबकि 26 जून से पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अच्छी बारिश हो सकती है। सोमवार को रुहेलखंड के जिलों में दिन भर काले बादल छाए रहे। बदायूं में बारिश हुई, पीलीभीत में बूंदाबादी हुई। 43 दिनों बाद बरेली में पारा 36 डिग्री सेल्सियस से नीचे आ गया।