राज्यउत्तराखण्ड

Uttarakhand Corruption News: 55 लापरवाह-भ्रष्ट सरकारी कर्मचारियों को पांच साल में जेल, इस विभाग में सबसे अधिक ऐक्शन

Uttarakhand Corruption News: इसके तहत यदि किसी भी सरकारी विभाग में कोई कर्मचारी, अधिकारी आम जनता से किसी भी तरह की रिश्वत मांगने के लिए टोल फ्री नंबर भी जारी किया गया है। भ्रष्टाचार को कम करने के लिए 1064 टोल मुफ्त है।

Uttarakhand Corruption News: सरकार अपने कर्तव्यों के प्रति लापरवाह और भ्रष्टाचार में संलिप्त लोगों पर कठोर कार्रवाई कर रही है। हाल ही में कई अधिकारी और कर्मचारी जेल गए हैं। पिछले साल 2023 में लघु सिंचाई, वन, विद्युत और खाद्य आपूर्ति विभागों से लगभग 20 अधिकारी-कर्मचारियों को जेल भेजा गया था।

2022 में पहले 14 कार्मिकों के खिलाफ कार्रवाई की गई थी। पिछले पांच वर्षों में 55 कर्मचारी गिरफ्तार किए गए हैं। मुख्यमंत्री ने 1064 नंबर जारी करके भ्रष्टाचार को नियंत्रित किया है। इसके तहत आम जनता से किसी भी तरह की रिश्वत मांगने के लिए टोल फ्री नंबर भी जारी किया गया है।

सरकारी भ्रष्टाचार को नियंत्रित करने के लिए 1064 टोल फ्री नंबर पर कॉल कर शिकायत कर सकते हैं। शिकायतकर्ता का नंबर गोपनीय रखा जाता है। उसकी पहचान नहीं बताई जाती।

गिरफ्तारी का आंकड़ा

वर्ष 2023 में 18 मामलों में 20 गिरफ्तारी

वर्ष 2022 में 14 मामलों में 14 गिरफ्तारी

वर्ष 2021 में 6 मामलों में 7 गिरफ्तारी

वर्ष 2020 में 4 मामलों में 4 गिरफ्तारी

वर्ष 2019 में 8 मामलों में 10 गिरफ्तारी

Related Articles

Back to top button